Today Click 3397

Total Click 328910

Date 16-01-19

मनोरंजन

देश

 

खेल

 

वीडियो

संपादकीय

हड़ताल बेअसर रही, सवाल नहीं

नया साल आते ही उम्मीदें की जाती हैं कि हर बात में नयापन दिखेगा। काम में नया जोश, जिंदगी के लिए नई उम्मीदें, बेहतर भविष्य के लिए नए संकल्प। लेकिन भारत की इस वक्त जो तस्वीर है, उसमें ऐसा नहीं लगता। नए साल के दूसरे सप्ताह में ही बढ़ते आर्थिक संकट, मूल्य वृद्धि और जबरदस्त बेरोजगारी के खिलाफ ट्रेड यूनियनों…

विस्तार से देखें

अयोध्या विवाद : असली सवाल तार्किक परिणति का

 न्यायालय की सुनवाई करने वाली पीठ के निर्णय के बाद ही विवाद के भविष्य के स्वरूप और उसकी सुनवाई की तिथियों पर भी फ ौरी निर्णय होंगे। आस्थाओं और विश्वासों का खयाल रखने के आग्रह को किस रूप में ले, समूहगत माने या व्यक्तिगत या तिथियों के निर्धारण का आधार क्या रखे, इन सारे बिन्दुओं के साथ ही न्यायालय को…

विस्तार से देखें

सच हो जाएगी भस्मासुर की कहानी

धर्म को निजी जीवन का हिस्सा बनाने की जगह सार्वजनिक और राजनैतिक जीवन में जरूरत से ज्यादा तरजीह देने का परिणाम अब कई भयानक रूपों में सामने आ रहा है। देश में अगले कुछ महीनों में आम चुनाव हो सकते हैं, उससे पहले अयोध्या में राम मंदिर बनाने का मुद्दा फिर राजनीति के केेंद्र में आ चुका है। अब तक…

विस्तार से देखें

संगीत की स्वर लहरियों को चुप करने की राजनीति

क्या कोई भूल सकता है कि मोहम्मद रफी ने 'मन तड़पत हरि दर्शन को आज' (बैजू बावरा) से लेकर 'इंसाफ का मंदिर है' (अमर) तक दिल को छू लेने वाले भजन गाए हैं। क्या उस्ताद बिस्मिला खान और उस्ताद बड़े गुलाम अली खान के भारतीय संगीत में योगदान को पंडित रविशंकर और पंडित शिवकुमार शर्मा के योगदान से कम बताया…

विस्तार से देखें

बदलाव की बयार बनाम इलेक्शन मैनेजमेंट

चुनाव में अगर भाजपा का कोई चेहरा है तो वह रमन सिंह का है। वे कल तक तो राजनांदगांव में ही फंसे हुए थे। अगले पांच-सात दिनों में वे अपनी पार्टी के लिए जितनी मेहनत संभव है करेंगे ही, लेकिन भाजपा ने स्टार प्रचारकों की जो फौज उतारी है वह नाकाम हो रही है। नोटबंदी और जीएसटी के कारण व्यापारी…

विस्तार से देखें

एक बार फिर काठ की हांडी चढ़ाने के फेर में हिन्दुत्ववादी संस्थाएं

लोकसभा चुनाव को देखते हुए संघ भाजपा और शिवसेना, विश्व हिन्दू परिषद, अन्तरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद व अन्य ऐसे ही संगठन व राजनीतिक दलों के लोगों को राम और उनका मंदिर याद आने लगा है जो 2019 तक वोट पड़ने तक याद रहेगा।

भारतीय जनमानस में यह याद रहे इसलिए ये सारी शक्तियां चंद लोगों के इशारे पर काम करने में…

विस्तार से देखें

मायावती का फैसला और कांग्रेस

बसपा प्रमुख मायावती ने विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के साथ गठबंधन से साफ इन्कार कर दिया है। छत्तीसगढ़ में तो वे पहले ही कांग्रेस से अलग हुए अजीत जोगी के साथ गठबंधन कर चुकी हैं, अब मध्यप्रदेश और राजस्थान में भी उन्होंने कांग्रेस के साथ न आने का ऐलान किया। उन्होंने बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि मध्यप्रदेश और राजस्थान…

विस्तार से देखें

सेना को मजबूत क्यों नहीं बनाती सरकार

रक्षा मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष पद से रिटा मे.ज.बी.सी. खंडूरी को हटाकर कलराज मिश्र को उनकी जगह अध्यक्ष बना दिया गया है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने पिछले साल सितंबर में ही मंत्री पद छोड़ा था, क्योंकि उन्होंने 75 बरस की उम्र पार कर ली थी और मोदीजी सार्वजनिक पदों पर 75 बरस से अधिक के लोगों…

विस्तार से देखें