info@sabkikhabar.com +91 9425401800
Breaking News - - ★★ इंदौर में रिटायर्ड DSP के बंगले में चल रहा था ऑनलाइन सट्टा, पुलिस ने 5 को पकड़ा      ★★ एमपी विधानसभा चुनाव के लिए BSP ने जारी की दूसरी लिस्ट      ★★ मणिपुर में नहीं थम रहा हिंसा का सिलसिला, भीड़ हो रही लगातार हमलावर      ★★ कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया नहीं लड़ेगी चुनाव, ख़राब स्वास्थ्य बताई वजह     
...

दो दिन से ढूंढ रही 4 जिलों की पुलिस; ड्रोन से भी सर्चिंग 

बुरहानपुर जिले की नावरा रेंज के जंगल में एक बार फिर अतिक्रमणकारी घुस आए हैं। सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम अलर्ट हो गई। गुरुवार रातभर जंगल में गश्त की गई। निमाड़ के 4 जिलों का फोर्स यहां तैनात किया गया है। साथ एसएएफ का बल भी मौजूद है। डीएफओ सहित अन्य अफसरों के मोबाइल स्विच ऑफ आ रहे हैं। ड्रोन से अतिक्रमणकारियों की सर्चिंग की जा रही है।

बता दें, फरवरी माह में करीब 80 अतिक्रमणकारियों ने घाघरला के जंगल में कटाई की थी। वन विभाग एसडीओ अनिल विश्वकर्मा ने बताया 150-200 अतिक्रमणकारियों के जंगल में घुसे होने की सूचना मिलने के बाद रातभर सर्चिंग की गई। शुक्रवार सुबह से पहाड़ी से ड्रोन के माध्यम से सर्चिंग की जा रही है।

जंगलों पर कड़ी नजर, फिर भी घुस आए

होली का बहाना बनाकर अतिक्रमणकारी जंगल में न घुस पाएं इसे लेकर वन विभाग ने 7 और 8 मार्च को नावरा, नेपानगर क्षेत्र के जंगलों पर नजर रखी। वनकर्मियों ने रातभर गश्त की, लेकिन होली के दूसरे दिन काफी संख्या में अतिक्रमणकारियों के घाघरला के जंगल में घुसने की जानकारी सामने आई। गुरुवार शाम डीएफओ अनुपम शर्मा घाघरला पहुंचे। टीम को एकत्रित कर जंगल में गश्त के लिए भेजा गया। बाद में खुद अफसर भी जंगल में अतिक्रमणकारियों को ढूंढते रहे।

ग्रामीणों को डर, जंगल को तबाह कर सकते हैं

इससे पहले भी अतिक्रमणकारियों ने जंगलों में घुसकर भारी तबाही मचाई थी। ग्रामीणों का कहना है कि इस बार उनकी संख्या ज्यादा है। वह फिर से जंगल को तबाह कर सकते हैं। 12 फरवरी को ग्रामीणों ने तत्कालीन डीएफओ ग्रिजेश बरकड़े का घेराव भी किया था। बाद में नावरा चौकी के सामने प्रदर्शन किया था। इसके बाद असीर-नेपा फाटे पर चक्काजाम की चेतावनी दी थी, तब क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस, एसएफ का बल तैनात किया गया था। इसकी भनक लगने पर अतिक्रमणकारी भाग निकले थे। अब एक बार फिर से अतिक्रमणकारी यहां आ धमके हैं। हालांकि, डीएफओ अनुपम शर्मा ने क्षेत्र में तीन अस्थायी चौकी भी स्थापित कर रखी है। क्षेत्र में बल भी पहले से ही तैनात है।

3 क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कटाई

नावरा रेंज के पानखेड़ा, साईखेड़ा और घाघरला में अगस्त 22 से वन कटाई शुरू हुई थी। नवंबर, दिसंबर और जनवरी तक अतिक्रमणकारी पानखेड़ा, साईखेड़ा में सक्रिय रहे। फरवरी में 80 से अधिक अतिक्रमणकारी घाघरला के जंगल में घुसे और काफी वन काटा था। इससे पहले अतिक्रमणकारी वनकर्मियों पर हमला, बाकड़ी चौकी से बंदूकें, कारतूस लूटने की वारदात को भी अंजाम दे चुके हैं।

वनकर्मियों के साथ की थी मारपीट

कुछ दिन पहले वन विभाग की टीम ने ठाठर बलड़ी क्षेत्र से 4 अतिक्रमणकारियों को पकड़ा था। उसी रात करीब 40 से अधिक अतिक्रमणकारी बुरहानपुर रेंज कार्यालय पहुंच गए थे और वनकर्मियों के साथ मारपीट कर आरोपियों को छुड़ाकर ले गए थे। हालांकि, पुलिस ने उन्हें एक घंटे के भीतर ही गिरफ्तार कर लिया था।

Burhanpur   10/03/2023