गंगा जल विशिष्टता को संरक्षण प्रबंधन में अनदेखी

20 July 2018

 गंगा जी में जहां जो काम करने की जरूरत है, वहां वो काम नहीं होता है। आज गंगा जी का सारा पैसा स्मार्ट सिटी के तहत एसटीपी बनाने और घाटों के निर्माण पर खर्च हो रहा है। यह तो शहरों का काम है गंगा का नहीं। जो अधिकारी गंगा के…

जरूरत से ज्यादा कठोर फैसला?

18 July 2018

नवाज शरीफ अपने विपरीत आए फैसले से भागना नहीं चाहते हैं। उन्होंने कहा है कि वह पाकिस्तान वापस जाएंगे और जेल की सजा का सामना करेंगे। लोकप्रिय बने रहने के लिए नेताओं को यह कीमत चुकानी पड़ती है। ऐसा नहीं होगा तो लोगों को लगेगा कि वे अपने विरोध में…

तलाक को राजनीति से जोड़ना कितना उचित?

16 July 2018

जहां तक धर्म और मान्यताओं का सम्बन्ध है, इसका अवतरण विभिन्न युगों और कालों में होता रहा है। उसमें होने वाले परिवर्तन भी समाज की आवश्यकताओं पर निर्भर रहे हैं। इसलिए महिलाओं के सम्बन्ध में उन पर एकांगी विचार उचित नहीं है।  सम्पत्ति के अधिकार में उसे शामिल किया जाना…

थाइलैंड के जांबाज

12 July 2018

घुप्प अंधेरे में, चारों ओर पानी से घिरी गुफा में, बिना सुविधाओं के 17 दिनों तक रहना कोई बच्चों का खेल नहीं है, लेकिन थाइलैंड के खिलाड़ी बच्चों और उनके कोच ने इस नामुमकिन लगने वाली बात को मुमकिन कर दिखाया है। थाइलैंड की चियांग राई प्रांत की इस गुफा…

थोड़ा और डराने की कोशिश

09 July 2018

देश में कमजोर, अल्पसंख्यकों, दलितों का एक बड़ा तबका लगातार खौफ के साए में जी रहा है। उनके खान-पान, पहनावे, शिक्षा, परंपराओं हर किसी पर टेढ़ी नजर रखी जा रही है। देश के स्वघोषित ठेकेदार इन लोगों पर जब-तब हमले बोल रहे हैं, ताकि इन्हें यह अहसास कराया जा सके…

दिल्ली : पिक्चर अभी बाकी है

06 July 2018

दिल्ली सरकार बनाम उपराज्यपाल मामले में लोकतंत्र के लिहाज से महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ ने साफ कर दिया है कि लोकतंत्र में चुनी हुई सरकार ही महत्वपूर्ण है। और उसके काम में दखलंदाजी नहीं होनी चाहिए। बीते कुछ ïवर्षों में दिल्ली सरकार और केेंद्र के…

गुस्ताखी माफ हो

03 July 2018

लोकतंत्र में राजतंत्र की घुसपैठ किस तरह से करवाई जा सकती है, इसकी मिसाल जनता दरबार जैसे आयोजनों में देखी जा सकती है। दरबार शब्द किसी नजरिए से लोकतांत्रिक शब्द नहीं है, इससे राजशाही की बू आती है। शपथग्रहण समारोह को भी अक्सर ताजपोशी जैसे विशेषण दे दिए जाते हैं।…

क्या परवरिश मिल रही है बेटों को

02 July 2018

फिर वैसी ही हैवानियत की खबर, फिर वही पीड़िता के कभी न भरने वाले जख्म, फिर वही सोशल मीडिया पर निंदा का दौर, फिर वही राजनेताओं के पार्टी के झंडों-कार्यकर्ताओं के हुजूम के साथ दौरे, फिर वही दिलासा, सांत्वना, दोषियों को सजा मिलेगी जैसे वादे, फिर वही मुआवजे का खेल,…

चीन की पटरी पर नेपाल की दौड़

30 June 2018

नेपाल एक सम्प्रभु देश है और वह अपनी विदेश नीति को किसी देश के मातहत होकर शायद ही आगे बढ़ाये पर कुछ भी ऐसा हुआ तो भारत के लिये चिंतित होना लाजमी है। सभी जानते हैं कि चीन के लिये नेपाल एक रणनीतिक ठिकाना मात्र है। हालांकि चीन के अंदर…

समानता की बात करने वाले संविधान भी पढ़ें

28 June 2018

भाजपा की यह जानी-पहचानी कार्यशैली है कि जब कोई गंभीर मुद्दा उसे परेशान करे तो जनता का ध्यान भटकाने के लिए फौरन नया शिगूफा छोड़ दो। इसका एक ताजा उदाहरण उत्तरप्रदेश से सामने आया है, जहां मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) और जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) में…

जान लेती अफवाहें

26 June 2018

किसी शख्स को भीड़ घेरे हुई है, उसे पत्थर मार रही है या लाठी-डंडों, जूतों से पिटाई कर रही है, यह दृश्य मध्ययुग में होता, तब आश्चर्य नहीं होता। फिल्म लैला-मजनूं याद कीजिए, जिसमें भीड़ मजनूं पर पत्थर बरसा रही है और लैला लोगों से उस पर रहम की अपील…

क्या कश्मीर मसले पर मोदी अगला चुनाव लड़ेंगे?

23 June 2018

भारतीय जनता पार्टी ने पीडीपी से अपना संबंध विच्छेद कर लिया और महबूबा मुफ्ती की सरकार का पतन हो गया। इस अलगाव से किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए, क्योंकि दोनों पार्टियों का वह गठबंधन एक बेमेल और अवसरवादी गठबंधन था। कहने को तो भारतीय जनता पार्टी कह रही थी…

मुंगेरीलाल के सपने और नीति आयोग

20 June 2018

नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की चौथी बैठक रविवार को संपन्न हुई। प्रधानमंत्री के साथ 24 मुख्यमंत्री जिस बैठक में शामिल हों, उसमें देश के कई जरूरी मुद्दों पर नीतियां, योजनाएं बनाई जा सकती थीं या कम से कम उनकी रूपरेखा तैयार हो सकती थी। लेकिन अफसोस कि इस मंच…

दिल्ली का संकट और केंद्र-राज्य संबंधों का सवाल

18 June 2018

बेशक, इन चार सालों में नवउदारवादी नीतियों के बुलडोजर तले राज्यों के अधिकारों को और खोखला किए जाने के सिलसिले को नयी ऊंचाई पर पहुंचा दिया गया है। इसका सबसे बड़ा सबूत है, राज्यों के कराधान के अधिकार को ही खत्म करने वाली जीएसटी व्यवस्था का लागू किया जाना है।…

यातना नहीं, सुधार की जगह बने जेलें

13 June 2018

न शराब, न सिगरेट तंबाकू और न ही किसी तरह का वायरल पीलिया (हेपेटाइटिस) संक्रमण, फिर भी दर्दे-जिगर। जिगर की जकड़न और कैंसर भी, अर्ध चिकित्सकीय भाषा में लिवर (यकृत) फाइब्रोसिस और फैटी लिवर। कैंसर हो या फाइब्रोसिस इसकी शुरुआत होती है फैटी लिवर से, मतलब जिगर में शोथ,—आम लोगों…

मोदी की हत्या की साजिश और राजनीति

11 June 2018

भीमा कोरेगांव हिंसा के बाद दलित अस्मिता का उठा सवाल अब माओवादियों की नीयत और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा के सवाल में बदल चुका है। इस साल की शुरुआत में महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में भड़की हिंसा के सिलसिले में महाराष्ट्र पुलिस ने दलित कार्यकर्ता सुधीर धावले, वकील सुरेंद्र…

किसान बाबा रामदेव तो नहीं हैं

08 June 2018

काश कि देश के किसान योग गुरु और व्यापारी रामदेव की तरह होते। फिर न उन्हें अपनी मांगों के लिए सड़क पर उतरना पड़ता। न आत्महत्या करनी पड़ती। न गोली खानी पड़ती। सरकार खुद उनके पास हाथ जोड़े आती और पूछती कि आप बताएं आपको क्या चाहिए? आपकी सुविधा और…

इस सितम का अंत?

06 June 2018

आज पेट्रोलियम मंत्री कह रहे हैं कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें सरकार के नियंत्रणाधीन नहीं हैं और उनकी कीमतों में इजाफे और डॉलर व रुपये की विनिमय दर में अंतर की वजह से समस्या खड़ी हुई है।' लेकिन 2013 में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें…

उपचुनाव में नहीं चल सका योगी मोदी का जादू

04 June 2018

उत्तर प्रदेश में कैराना और नूरपुर के चुनाव में न तो मोदी का जादू चला और न ही स्टार प्रचारक बने योगी का ही जादू चल सका। दोनों ही सीटें  अघोषित गठबंधन के प्रत्याशियों ने भाजपा से छीन लीं। उत्तर प्रदेश में भाजपा की योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बनी…

कदम-कदम बढ़ाए जा

01 June 2018

3 राज्यों की 4 लोकसभा सीटों और 9 राज्यों की 10 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों के जो नतीजे आएं हैं, उन्हें भाजपा कतई 2019 का सेमीफाइनल नहीं मानेगी। कर्नाटक के परिणामों के पखवाड़े भर बाद ही उसे दूसरा बड़ा झटका लगा है। अब तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित…

सवाल लोकतंत्र का है

30 May 2018

कैराना, गोंदिया-भंडारा और पालघर समेत देश की चार लोकसभा सीटों और दस विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए सोमवार को वोट डाले गए। ये उपचुनाव 2019 के आम चुनावों के लिहाज से काफी अहम माने जा रहे हैं। हाल ही में संपन्न कर्नाटक चुनाव में भाजपा के हाथों सत्ता आकर…

थोड़ा लिखा है, ज्यादा समझना

28 May 2018

मोदी सरकार के चार साल पूरे हो चुके हैं। इस दौरान देश में बहुत कुछ बदला, लोगों की सोच, नजरिया, राजनीति के तौर-तरीके यहां तक कि भाजपा का नारा भी। अच्छे दिन आने वाले हैं, भाजपा के चुनाव प्रचार का प्रस्थान बिंदु था, जो बाद में कई नारों से होता…

पेट्रोलियम मूल्य वृद्धि का नीतिगत समाधान जरूरी

25 May 2018

पहले ही रिकार्ड स्तर पर जा चुकी डीजल व पेट्रोल की कीमतें बढ़ाने से तेल कम्पनियां अभी भी परहेज नहीं बरत रहीं। जब हम ये पक्तियां लिख रहे हैं, उन्होंने लगातार नवें दिन इनमें वृद्धि का ऐलान कर दिया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों के बढ़ने व…

मोदी-पुतिन भेंट के मायने

23 May 2018

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन की सोची शहर में हुई मुलाकात कई मायनों में यादगार कही जा रही है। काले सागर के तट पर बसे इस शहर में दोनों शासन प्रमुखों की अनौपचारिक मुलाकात हुई। अभी हाल ही में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग…

जिन्ना की प्रासंगिकता

16 May 2018

जिन्ना पाकस्तिान में उतने ही आदरणीय हैं जितना भारत में महात्मा गांधी। यह वक्त हिंदुओं को यह समझने का है कि बंटवारा मुसलमानों की मुक्ति के लिए था। यह 1947 की बात है। आज, मुसलमानों की आबादी करीब 17 करोड़ है और वे भारत के मामलों में कोई मायने नहीं…

इतिहास से छेड़खानी का विरोध करें

14 May 2018

राजस्थान में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त अंग्रेजी माध्यम के निजी विद्यालयों में आठवीं कक्षा की किताब में बाल गंगाधर तिलक को  'आतंकवाद का जनक' बताया जा रहा है। किताब की पेज संख्या 267 पर 18-19 वीं शताब्दी के राष्ट्रीय आंदोलन की घटनाएं शीर्षक से जुड़े पाठ में कहा…

नफरत की आंधी से जूझते अमन के चिराग

12 May 2018

अंकित सक्सेना नामक एक 23 वर्षीय युवक की हत्या, उसकी मुस्लिम मंगेतर के परिवार ने कर दी। अंकित अपने माता-पिता के एकमात्र पुत्र थे और जाहिर है कि उनकी मौत, उनके अभिभावकों के लिए दु:खों का पहाड़ बनकर आई होगी। परंतु यह देखकर हम सबको अत्यंत संतोष का अनुभव हुआ…

महाराणा प्रताप पर राजनीति

11 May 2018

सहारनपुर के पिछले जख्म अभी भरे भी नहीं थे कि एक बार फिर उसे चोट पहुंचाई गई है। बीते बरस भी महाराणा प्रताप जयंती पर यहां जातीय हिंसा हुई थी,  और इस बार फिर यहां हिंसा के बाद तनाव का माहौल है। बुधवार को सहारनपुर के रामनगर में भीम आर्मी…

मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग पर तमाशा

10 May 2018

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग का नोटिस नामंजूर करने के राज्यसभा सभापति के फैसले के विरोध में दायर याचिका को कांग्रेसी सांसद एवं वकील कपिल सिब्बल ने जिस तरह वापस लिया उससे यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि आखिर वह चाहते क्या हैं? उनकी ओर से जिस…

सुप्रीम कोर्ट का सही फैसला

09 May 2018

उत्तर प्रदेश का कोई भी पूर्व मुख्यमंत्री अब सरकारी बंगले में रहने का हकदार नहीं है। सरकारी बंगलों पर काबिज पूर्व मुख्यमंत्रियों के लिए सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। एक गैरसरकारी संस्था लोकप्रहरी की याचिका पर सुनवाई करते हुए सर्वोच्च अदालत ने यह फैसला दिया है। इससे पहले…