Breaking News

Today Click 4744

Total Click 422980

Date 25-03-19

देसी दुकान में 'विदेशी" बिकवाने पर भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने

By Sabkikhabar :14-03-2019 08:22


देसी शराब दुकान में विदेशी शराब बेचने की इजाजत दिए जाने पर सियायत भी तेज हो गई। कांग्रेस और भाजपा नेता आमने-सामने आ गए हैं। सोशल मीडिया में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चल पड़ा है। वाणिज्यिक कर मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर ने सफाई देकर कहा है कि प्रदेश में देसी शराब की दुकानों पर विदेशी शराब बेचने को लेकर सरकार ने अभी ऐसा कोई फैसला लागू नहीं किया। संभवत: पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नई आबकारी नीति ठीक से पढ़ी नहीं है। नीति में कई अच्छे कदम उठाए हैं।

दरअसल, चौहान ने ट्वीट कर सरकार के इस फैसले की आलोचना कर कहा है कि हमने प्रदेश में एक भी शराब दुकान नहीं खुलने दी। नशामुक्ति की दिशा में काम किया और यह सरकार (कांग्रेस) देसी शराब दुकान में विदेशी शराब बिकवाने जा रही है। हमारे सामने भी ऐसा प्रस्ताव आए थे पर हमने ठुकरा दिए। चौहान ने सीएम कमलनाथ को मामले में पत्र भी लिखा है।

मेरे लिए युवाओं का भविष्य जरूरी

शिवराज ने लगातार तीन ट्वीट किए.. 'ये एक अनर्थकारी कदम है और प्रदेश के भविष्य को नशे की गर्त में धकेलने की एक सजिश है। सीएम से आग्रह है कि ऐसा कदम न उठाएं और यह प्रस्ताव निरस्त करें। उन्होंने आगे लिखा, मेरे सीएम रहते सरकारी आमदनी बढ़ाने ऐसे प्रस्ताव पहले भी आए थे, पर ज्यादा जरूरी प्रदेश के युवा और उनका भविष्य था, इसीलिए मैंने प्रस्ताव का समर्थन नहीं किया।
आपने शराबबंदी क्यों नहीं की

वाणिज्यिक कर मंत्री बृजेंद्र सिंह राठौर ने कहा, सरकार की आमदनी बढ़ाने के लिए शराब लाइसेंस के नवीनीकरण शुल्क में 20 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। इस पर विचार किया जा सकता है। इधर, राजस्व मंत्री गोविंद सिंह ने कहा, जब आप मुख्यमंत्री थे तब शराबबंदी क्यों नहीं की। नर्मदा किनारे संकल्प लिया था, उसके बाद भी नर्मदा घाटों पर शराब बिकती रही।
 

Source:Agency