Breaking News

Today Click 1273

Total Click 279347

Date 12-12-18

अमेरिकी अधिकारी ने बताया ईरानी नौसेना के अभ्यास का मकसद

By Sabkikhabar :09-08-2018 08:53


वॉशिंगटन : पश्चिम एशिया में अमेरिकी सैन्य अभियानों की निगरानी करने वाले जनरल ने आज कहा कि अमेरिका द्वारा ईरान पर दोबारा प्रतिबंध लगाने से पहले होरमुज के जलडमरूमध्य के आसपास ईरान द्वारा किया गया नौसेना अभियास का मकसद वाशिंगटन को संदेश देना था.  ईरान ने पिछले ही हफ्ते खाड़ी में यह अभ्यास शुरू किया था. अमेरिका के केंद्रीय कमान प्रमुख जोसेफ वोटेल ने पेंटागन संवाददाताओं से कहा, “ यह स्पष्ट है कि जैसे-जैसे प्रतिबंध लगाने का समय नजदीक आता गया ईरान इस अभ्यास के जरिए हमें यह संदेश देना चाहता था कि उसके पास भी कुछ क्षमताएं हैं.” उन्होंने बताया कि इन क्षमताओं में महासागरीय सुरंग, विस्फोटक नाव, तटीय रक्षा मिसाइल और रडार शामिल हैं. 


अमेरिकी अधिकारी ने दी थी अभ्यास की जानकारी
अमेरिकी सेंट्रल कमांड के मुख्य प्रवक्ता कैप्टन विलियम उरबन ने सीएनएन से कहा था, हम अरब खाड़ी में होरमुज स्ट्रेट और ओमान की खाड़ी के भीतर ईरानी नौसेना की बढ़ी गतिविधियों से अवगत हैं. हम इसकी बारीकी से निगरानी कर रहे हैं और अंतर्राष्ट्रीय जलमार्गों में नौपरिवहन की स्वतंत्रता और वाणिज्य के मुक्त प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए अपने भागीदारों के साथ काम करना जारी रखेंगे."

विश्व का 20% तेल का यही से होता है व्यापार
अमेरिकी ऊर्जा सूचना प्रशासन ने इसे दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण तेल पारगमन चेकप्वाइंट कहा है. इस जलमार्ग के माध्यम से दुनिया भर के 20 प्रतिशत तेल का व्यापार होता है.
 

Source:Agency