By: Sabkikhabar
11-07-2018 08:04

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सौर ऊर्जा भविष्य की नहीं, अब वर्तमान की ऊर्जा बन गई है। मध्यप्रदेश ने नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन में पूरे देश में पहचान बनाई है। श्री चौहान आज यहां मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल के भवन पर स्थापित प्रदेश के पहले 200 किलोवाट क्षमता के शासकीय रूफटॉप सोलर ऊर्जा संयत्र का शुभारंभ कर रहे थे। एक करोड़ बीस लाख रुपये लागत से स्थापित इस संयंत्र में बिजली बनना शुरू हो गया है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पर्यावरण बचाने के लिये सोलर एनर्जी एकमात्र प्रभावी विकल्प है। शासकीय भवनों में सोलर पैनल से सौर ऊर्जा उत्पादन करने का काम शुरु हो गया है। सोलर ऊर्जा संयत्र की लागत तीन चार साल में ही वसूल हो जाती है। उन्होंने कहा कि रीवा में दुनिया का पहला ऐसा सोलर एनर्जी प्लांट लगाया गया है, जिसमें ऊर्जा उत्पादन की लागत दो रूपये 97 पैसे प्रति यूनिट है।

श्री चौहान ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिये हर नागरिक एक पौधा जरूर लगाये और उसकी रक्षा करे। उन्होंने कहा कि पर्यावरण बचाने और जीवन बचाने की यह शुरूआत है। प्रदेश में 15 जुलाई से पौधा रोपण अभियान शुरु हो रहा है। उन्होंने स्कूलों में फर्नीचर देने और अधोसंरचना बढ़ाने के काम करने के लिये माध्यमिक शिक्षा मंडल की सराहना की। उन्होने बताया कि माध्यमिक शिक्षा मंडल तीन स्कूल और संचालित करेगा। उन्होंने पांच सर्वश्रेष्ठ परिणाम देने वाले स्कूलों को पुरस्कृत करने की पहल करने के लिये मंडल की प्रशंसा की। श्री चौहान ने इस अवसर पर माध्यममिक शिक्षा मंडल के उत्कृष्ट काम करने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों को सम्मानित किया।

माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष श्री आर.एस. मोहंती ने बताया कि मुख्यमंत्री के प्रयासों से आज मध्यप्रदेश सोलर ऊर्जा और नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन में देश में पहले स्थान पर आ गया है। उन्होने कहा कि माध्यमिक शिक्षा मंडल ने बच्चों को विभिन्न ऑनलाइन सुविधाएं उपलबध करवाई हैं और अब शासन की नीति का लाभ उठाते हुए सौर ऊर्जा उत्पादन में भी पहल की है ।

इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री कुंवर विजय शाह, नवकरणीय ऊर्जा राज्यमंत्री श्री नारायण सिंह कुशवाह, तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री श्री दीपक जोशी, माध्यमिक शिक्षा मंडल के उपाध्यक्ष श्री भागीरथ कुमरावत, सदस्य श्री भावसार, ऊर्जा विकास निगम के अध्यक्ष श्री विजेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रमुख सचिव नवकरणीय ऊर्जा श्री मनु श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती दीप्ति गौड मुखर्जी और आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत उपस्थित थे।

Related News
64x64


दो अन्नदाताओं ने परेशान होकर पिया हलाहल
सागर। प्रदेश में मालवा का नाराज़ किसान सरकार के खिलाफ मुद्दा बनता दिख रहा हैं तो गरीब और पिछड़े बुन्देलखण्ड…

64x64

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बच्चों के सपनों को राज्य सरकार साकार करेगी। हर जरूरी मदद देने के लिए सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने…

64x64

सांची बौद्ध-भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय के निर्मित होने वाले परिसर में अन्य देशों के अध्ययन केन्द्र की भी स्थापना की जायेगी। प्रारंभिक रूप से श्रीलंका और वियतनाम ने अपने-अपने देशों…

64x64

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश का विकास अगर वे अच्छा कर पा रहे हैं, तो उसमें आचार्य श्री की ही कृपा है। प्रदेश को और…

64x64

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने बड़वानी जिले में दौरे के दौरान अधिकारियों से कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य की दिशा में बड़वानी जिले को अग्रणी बनाने के लिये प्रयास करें।…

64x64

इटारसी। सीपीई कर्मचारियों की बस पलटने से प्रूफ रेंज ताकू जा रहे तीस कर्मचारी घायल हो गए । घायलों में सात की हालत गंभीर है। घायलों को उपचार के लिए…

64x64

नरसिंहपुर । जबलपुर जाने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस का पहिए उस वक्त अचानक थम गए जब उसका इंजन फेल हो गया। ट्रेन का इंजन फेल होने की घटना करकबेल नाम के…

64x64

भोपाल। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों (ईडब्ल्यूएस) के लिए मकानों पर लगने वाला जीएसटी अब खत्म हो सकता है। इस मसले पर शनिवार को होने वाली जीएसटी काउंसिल…