By: Sabkikhabar
11-07-2018 06:39

बैंकॉक.थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में फंसी फुटबॉल टीम के सभी सदस्यों को 17 दिन बाद मंगलवार शाम को सुरक्षित निकाल लिया गया। 8 जुलाई को फाइनल रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया, जो 10 जुलाई को खत्म हुआ। आखिरी दिन कोच इकापोल चांटावांग (25) समेत टीम के 5 सदस्यों को बाहर निकाला गया। 23 जून को गुफा देखने गई टीम बाढ़ की वजह से उसमें फंस गई थी। 9 दिन बाद 2 ब्रिटिश गोताखोरों ने गुफा में फंसे बच्चों को सबसे पहले खोजा था। इस घटना का वीडियो सामने आया था। मुश्किल हालात में भी इतने दिन तक संघर्ष करने वाले टीम के सदस्यों को ब्रिलियंट 13 का नाम दिया गया।

बचाव अभियान के आखिरी दिन 11वां बच्चा चैनिन विबूरॉन्गैंग बाहर आया। वह जूनियर फुटबॉल टीम का सबसे छोटा साथी है। टीम के सभी सदस्य उसे टाइटन के नाम से बुलाते हैं। उसने 5 साल पहले फुटबॉल खेलना शुरू किया था।

बचाव कार्य में लगे नेवी अफसरों ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट डाला है। इसमें उन्होंने लिखा है कि हमें नहीं पता यह चमत्कार है, विज्ञान है या कुछ और। फिलहाल 13 वाइल्ड बोर (फुटबॉल टीम का नाम) गुफा से बाहर आ चुके हैं।

दो गोताखोरों ने एक बच्चे को निकालने का जिम्मा संभाला :एक बच्चे को निकालने का जिम्मा दल के दो गोताखोरों पर था। इनमें एक गोताखाेर बच्चे के आगे और एक पीछे था। अगला गोताखोर बच्चे के साथ खुद को रस्सी बांधकर उसे सहारा देते हुए तैरता था। उसके हाथ में ही बच्चे का ऑक्सीजन सिलेंडर होता था। पीछे वाला गोताखोर गुफा में बांधी गई रस्सी के सहारे बच्चे की मदद करता हुआ तैरता था। हर बच्चे और कोच को फुल मास्क और वेट सूट में बाहर लाया गया। ऑपरेशन को केव मेज-बॉटलनेक नाम दिया गया।

गुफा के मुहाने से 3.2 किलोमीटर दूर फंसे थे बच्चे :गुफा के मुख्य निकास से बच्चों के फंसे होने की जगह 3.2 किलोमीटर दूर थी। इसमें कुछ हिस्सों में पानी था। अंधेरे की वजह से इसमें देख पाना भी मुश्किल था। इसके अलावा संकरे रास्ते अभियान में बड़ी रुकावट थे। थाईलैंड के अलावा अमेरिका, चीन, जापान, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के 90 गोताखोर बचाव कार्य में लगे थे। एक हजार से ज्यादा जवान और एक्सपर्ट इस अभियान में मदद कर रहे थे।

एक गोताखोर की जान गई :बच्चों को बचाने की कोशिश में थाईलैंड की नौसेना के एक पूर्व गोताखोर की 6 जुलाई को मौत हो गई थी। समन कुनन (38) बच्चों के पास रसद पहुंचाने के बाद लौट रहे थे। ऑक्सीजन की कमी के चलते वे रास्ते में बेहोश हो गए थे। बाद में उनकी मौत हो गई। कुनन ने नौसेना छोड़ दी थी, लेकिन बच्चों को बचाने के लिए वे लौटे थे।

रेस्क्यू ऑपरेशन के हीरो बने ब्रिटिश गोताखोर: ब्रिटिश गोताखोर जॉन वोलेंनथन और रिक स्टैटन रेस्क्यू ऑपरेशन के हीरो हैं। दोनों ने ही गुफा में फंसे बच्चों को सबसे पहले खोजा। ये बच्चे कीचड़ के बीच एक छोटी सी चट्टान पर बैठे मिले थे। जॉन ने जब उनसे पूछा कि आप कितने लोग हो? तो अंदर से आवाज आई- तेरह। गोताखोरों ने कहा कि सबसे पहले आने वाले हम हैं, लेकिन अभी बहुत सारे लोग तुम्हारी मदद के लिए आएंगे।


ये हैं सुपर थर्टीन: टाइटन (11), पनुमास सांगदी (13), दुगनपेच प्रोमटेप (13), सोमेपोंग जाइवोंग (13), मोंगकोल बूनेइआम (13), नात्तावुत ताकमरोंग (14), प्राजक सुथम (14), एकरात वोंगसुकचन (14), अब्दुल समुन (14), पिपत बोधी (15), पोर्नचई कमुलांग (16), पीरापत सोमपिआंगजई (17) और कोच इकापोल चांटावांग (25)।
 

Related News
64x64

वॉशिंगटन : अमेरिकी विदेश विभाग ने पाकिस्तान के आम चुनाव में आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) से जुड़े लोगों के हिस्सा लेने पर चिंता जताई. डॉन न्यूज के मुताबिक, पाकिस्तान के…

64x64

यंगून : म्यांमार के संकटग्रस्त रखाइन प्रांत की अंतरराष्ट्रीय सलाहकार परिषद के एक प्रमुख सदस्य ने इस्तीफा दे दिया और कहा कि आंग सान सू की द्वारा नियुक्त बोर्ड के…

64x64

नई दिल्ली: पाकिस्तान के प्रमुख अंग्रेजी अखबार 'डॉन' के शनिवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान…

64x64

वॉशिंगटन: व्हाइट हाउस का कहना है कि वह रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की पूर्वी यूक्रेन में जनमत संग्रह की मांग का समर्थन करने पर विचार नहीं कर रहा. अमेरिकी राष्ट्रपति…

64x64

इंटरनैशनल डेस्कः  फ्रांस की मशहूर विमान निर्माता कंपनी एयरबस ने 21 साल पहले ए300-600 एसटी विमान बनाकर दुनिया को हैरान कर दिया था। इसके आकार के कारण यह सबसे दुर्लभतम…

64x64

वॉशिंगटन : लंबे इंतजार और बार - बार तारीख तय करने की जद्दोजहद के बाद अंतत : अमेरिका और भारत के बीच पहली 2+2 वार्ता छह सितंबर को नयी दिल्ली…

64x64

लंदनः ब्रिटेन की सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी ने 2020 में लंदन मेयर पद की उम्मीदवारी के लिए 10 संभावित नामों को अंतिम रूप दिया है और इसमें दो भारतवंशी भी हैं…

64x64

वॉशिंगटन : अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने आज कहा कि इंसान की धार्मिक स्वतंत्रता के बुनियादी अधिकार को लेकर चीन का रवैया ठीक नहीं है. अमेरिकी विदेश मंत्रालय अगले…