By: Sabkikhabar
10-07-2018 08:50

रिलायंस जियो की वार्षिक एजीएम मीटिंग में जियो गीगाफाइबर की घोषणा की गई। कंपनी के दावे के मुताबिक Jio GigaFiber हाई स्पीड ब्रॉडबैंड सेवा, बीएसएनएल और भारती एयरटेल की ब्रॉडबैंड सेवा से कई मायनों में बेहतर होगा। Jio GigaFiber की औपचारिक घोषणा करते समय रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा,  'भारत का फिक्स्ड ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी में 134वां स्थान है। इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह देश का खराब फिक्स्ड लाइन इंफ्रास्ट्रक्चर है। जियो ने इस फाइबर ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी के लिए 2 लाख 50 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया है। जियो का लक्ष्य भारत को ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी के क्षेत्र में टॉप 5 देशों में शामिल करना है।'
 
आइए जानते हैं वो कौन से 5 कारण हैं जिसकी वजह से कंपनी इसे अन्य कंपनियों के ब्रॉडबैंड से बेहतर बता रही है।
 
वर्तमान ब्रॉडबैंड स्थिति
 
देशभर में ब्रॉडबैंड सेवा प्रदान करने वाली कंपनियां कोएक्सियल केबल का इस्तेमाल करती हैं, जिससे डाटा के नुकसान होने का खतरा बना रहता है। दूरसंचार कंपनियां ऑप्टिकल फाइबर का इस्तेमाल करती हैं और आपके नजदीकी क्षेत्र में इसे इंस्टॉल करती हैं। वहां से आपके घर तक कॉपर के केबल के जरिए ही कनेक्शन पहुंचाती हैं, जिससे डाटा लॉस होता है और यूजर्स को स्लो इंटरनेट स्पीड का सामना करना पड़ता है। 
 
फाइबर टू द होम (FTTH)
 
कंपनी के दावे के मुताबिक, Jio GigaFiber अन्य कंपनियों के ब्रॉडबैंड सेवा से काफी अलग होगा। जियो के गीगाफाइबर में कंपनी ऑप्टिकल फाइबर के जरिए लोगों के घरों में ही सिस्टम इंस्टॉल करेगी, जिससे डाटा लॉस नहीं होगा और यूजर्स को हाई -स्पीड इंटरनेट का आनंद मिलेगा। कंपनी ने इसे फाइबर टू द होम (FTTH) सेवा का नाम दिया है।
 
1,100 शहरों में एक साथ होगा लॉन्च
 
Jio GigaFiber को देशभर के 1,100 शहरों में एक साथ लॉन्च किया जाएगा। जिसका सीधा असर बीएसएनएल की ब्रॉडबैंड सेवा पर पड़ेगा। बीएसएनएल जहां यूजर्स को 50 Mbps की स्पीड से डाटा प्रदान करती है वहीं जियो गीगाफाइबर यूजर्स को 100 Mbps की स्पीड से डाटा उपलब्ध कराएगी। जियो गीगा फाइबर की बुकिंग 15 अगस्त से शुरू हो जाएगी, जिसके बाद रजिस्ट्रेशन के आधार पर सेवा भी चालू की जाएगी।
 
एयरटेल V-फाइबर सेवा पर पड़ेगा असर
 
भारती एयरटेल भी यूजर्स को ऑप्टिकल के जरिए ब्रॉडबैंड सेवा प्रदान करता है। एयरटेल की यह सेवा फिलहाल बड़े शहरों और महानगरों तक ही सीमित है। हालांकि, एयरटेल यूजर्स को 100 Mbps की स्पीड से डाटा प्रदान कर रहा है लेकिन जियो गीगाफाइबर के आने से इसके व्यवसाय पर भी असर पड़ेगा।
 
अन्य कंपनियों को भी उठाना पड़ सकता है नुकसान
 
बीएसएनएल और एयरटेल के अलावा वोडाफोन यू-ब्रॉडबैंड, एसीटी फाइबर समेत अन्य ब्रॉडबैंड सेवा प्रदान कंपनियों को भी जियो गीगाफाइबर की वजह से नुकसान उठाना पड़ सकता है। जिस तरह से जियो ने टेलिकॉम सेक्टर में उतरते ही एयरसेल और रिलायंस कम्युनिकेशन्स जैसी कंपनियां बंद हो गई, माना जा रहा है कि छोटी कंपनियों को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

Related News
64x64

होंडा कार इंडिया ने न्यू जेनरेशन होंडा अमेज कार की कुल 7,290 यूनिट्स को रिकॉल किया है। कंपनी इन कारों में ईपीएस यानी इलेक्ट्रिक असिस्ट पावर स्टीयरिंग सेंसर हार्नेस की…

64x64

आधुनिक इतिहास के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस लगातार सफलता के नये आयाम छू रहे हैं. बेजोस जहां 151 अरब डॉलर की संपत्त‍ि के साथ दुनिया के सबसे अमीर शख्स…

64x64

राष्ट्रीय कंपनी कानून अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने शुक्रवार को कर्ज में डूबी भूषण पावर एंड स्टील (बीपीएसएल) के कर्जदाताओं को बैठक करने की मंजूरी दे दी। न्यायाधिकरण ने कर्जदाताओं को…

64x64

यह भारतवासियों के लिए खुशी की बात है कि भारत फ्रांस को पछाड़कर आर्थिक रूप से दुनिया की छठी ताकत बन गया है। इसके पहले हम सातवें स्थान पर थे।…

64x64

बजाज आॅटो देश के सबसे लोकप्रिय स्कूटर होंडा ऐक्टिवा को टक्कर देने के पूरे मूड में है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बजाज चेतक स्कूटर को भारत में फिर से वापस…

64x64

पेप्सीको, कोका कोला और बिस्लरी जैसी टॉप कोल्ड ड्रिंक्स कंपनियां अब अपनी प्लास्टिक की बोतलों को ग्राहक से खरीद लेंगी। कंपनियों ने अपनी प्लास्टिक की बोतलों पर बायबैक वैल्यू भी…

64x64

बुधवार को आई बड़ी गिरावट के बाद लौटी खरीदारी के चलते सोने की कीमतों में मामूली तेजी दर्ज की गई हैं. देश की राजधानी दिल्ली में गुरुवार को सोने का…

64x64

नई दिल्‍ली। ब्लूमबर्ग बि‍लि‍नि‍यर्स इंडेक्‍स के मुताबिक, बीते सोमवार को जेफ बेजोस की नेटवर्थ 150 अरब डॉलर (करीब 10.27 लाख करोड़ रुपए) हो गई है। करीब 36 घंटे की समर…