By: Sabkikhabar
09-07-2018 07:07

देहरादून : रविवार की शाम से उत्तराखंड के अधिकांश जिलों में हो रही बारिश ने गर्मी से राहत तो दी, लेकिन भूस्खलन से सड़कें बंद होने का सिलसिला भी शुरू हो गया। इससे लोगों की आफत भी बढ़ गई है। वहीं मौसम विभाग के मुताबिक उत्तराखंड 11 जुलाई तक भारी बारिश की आशंका है। इसके चलते अलर्ट जारी किया गया है। 

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक गढ़वाल मंडल के तीन जिले चमोली, पौड़ी और रुद्रप्रयाग व कुमाऊं मंडल में 10 व 11 जुलाई को भारी से भारी बारिश की आशंका है। जिसे देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने सोमवार को कुमाऊं मंडल के पिथौरागढ़, नैनीताल एवं चंपावत जिलों में कही-कहीं भारी बारिश की चेतावनी भी दी है।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 11 जुलाई तक कुमाऊं एवं गढ़वाल के छह जिलों में भारी से भारी बारिश के आसार हैं। गढ़वाल मंडल के तीन जिले चमोली, पौड़ी एवं रुद्रप्रयाग को अलर्ट रहने की हिदायत दी है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की ओर से संबंधित जिलों के जिलाधिकारी को अलर्ट रहने की सलाह दी है।  वहीं, रविवार शाम से उत्तराखंड में शुरू हुआ बारिश का दौर जारी है। चमोली जिले में भूस्खलन के चलते लामबगड़ के निकट बदरीनाथ हाइवे सुबह करीब आधा घंटा बंद रहा। बाद में इसे सुचारु कर दिया गया।  वहीं, पौड़ी, रुद्रप्रयाग, देहरादून में हल्की बूंदाबांदी का दौर जारी है। टिहरी में घने कोहरे के बीच बूंदाबांदी की सूचना है। 

टिहरी-ऋषिकेश राजमार्ग बगढ़धार, फकोट व हिंडोलाखाल के पास भूस्खलन से बंद हो गया। इन क्षेत्रों में लगातार मलबा गिर रहा है। मलबा हटाने में जेसीबी मशीनें काम कर रही हैं, लेकिन सड़क साफ करने के बाद दोबारा मलबा गिर रहा है।  कुमाऊं मंडल में पर्यटन नगरी रानीखेत, गगास व कोसी घाटी समेत पूरा पहाड़ बादलों से घिरा है। कहीं रिमझिम तो कहीं तेज बारिश की हो रही है। वहीं, पिथौरागढ़ में रात से बारिश के चलते अस्कोट-कर्णप्रयाग और थल- मुनस्यारी मार्ग भूस्खलन से बंद हो गया।

अस्कोट-कर्णप्रयाग मार्ग में थल के निकट बरड बैंड के पास मलबा आया है। यहां थल डीडीहाट धारचूला से हल्द्वानी जाने वाले वाहन फंसे है। वहीं, थल मुनस्यारी मार्ग दो स्थानों रसियाबगड और बनिक के पास बंद हो गया। नैनीताल में भी रातभर बारिश होती रही।  बागेश्वर के कपकोट में 162 मिमी बारिश दर्ज की गई। सरयू नदी उफान पर आ गई। कपकोट-कर्मी मोटर मार्ग भूस्खलन से बंद हो गया। वही बागेश्वर बैजनाथ मोटर मार्ग धयनगड़ के पास बंद होने की सूचना है।  वहीं, कई दिनों बाद हुई बारिश से काश्तकार खुश हैं। गरुड़ घाटी में धान की रोपाई शुरू हो गई।  चंपावत में रात भर झमाझम बारिश होती रही। सुबह कोहरे के चलते सड़कों पर वाहन चालकों को हेड लाइट जलानी पड़ी। 
 

Related News
64x64

250 रु. जमा कर सुरक्षित करें बेटी का भविष्य, मोदी सरकार ने नियमों में किया बदलाव

मोदी सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना के नियमों में बदलाव कर दिया है। अब इस अकाउंट…

64x64

मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष की ओर से पेश अविश्वास प्रस्ताव शुक्रवार को 199 वोटों के बड़े अंतर से गिर गया। लोकसभा में 11 घंटे की तीखी और नाटकीय बहस…

64x64

राजस्थान के अलवर में गो तस्करी  के आरोप में एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. घटना रामगढ़ थाना क्षेत्र के लालवंडी गांव की है. मृतक का नाम अकबर…

64x64

नई दिल्ली/शाहजहांपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शाहजहांपुर में किसान रैली को संबोधित करते हुए कहा कि 'मैं यहां अपना वादा पूरा करने आया हूं. पहले की सरकारों ने कभी किसानों…

64x64

हरियाणा के फतेहाबाद जिले के टोहाना में बाबा बालकनाथ मंदिर के पुजारी अमरपुरी उर्फ बिल्लू का एक विडियो वायरल हुआ है, जिसमें वह महिलाओं के साथ आपत्तिजनक हालत में दिख…

64x64

पटना: लोकसभा में नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर हो रही बहस के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भाषण और खासकर भाषण के बाद उनके 'आंख मारने'…

64x64

फेसबुक ओन्ड मैसेजिंग एप कंपनी व्हाट्सएप ने भारत में अपने 200 मिलियन यूजर्स के लिए बड़ा बदलाव किया है. व्हाट्सएप पर फैल रही अफवाहों के कारण देश में बढती मॉब…

64x64

नई दिल्ली: जिस बात की सबको उम्मीद थी और जिस बात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुरू से आश्वस्त थे, आखिर वही बात सच भी हुई. मोदी सरकार ने अपने…