Breaking News

Today Click 3288

Total Click 177093

Date 18-09-18

BJP ने कश्मीर को बर्बाद किया, जिम्मेदारी से भाग नहीं सकती: कांग्रेस

By Sabkikhabar :21-06-2018 07:50


जम्मू-कश्मीर में पीडीपी-बीजेपी सरकार के पतन के साथ ही राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो चुकी है. सूबे में विपक्षी दल सरकार के पतन के लिए दोनों दलों पर आरोप लगा रहे हैं. कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी ने कश्मीर को बर्बाद कर दिया.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने प्रेस कॉन्फ्रेन्स में बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि आज से साढ़े तीन साल पहले बीजेपी और पीडीपी के बीच अनैतिक गठबंधन हुआ था. हमें इसके बने रहने पर शुरू से ही शक था जो आज सही साबित हुआ.

पहले से थी मिलीभगत

उन्होंने कहा कि राज्य में 2015 में जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव से पहले ही पीडीपी और बीजेपी के बीच करार हो गया था, जिसके तहत घाटी में पीडीपी ने जोरों से बीजेपी का विरोध किया था. वहीं जम्मू में बीजेपी ने पीडीपी का विरोध किया और चुनाव के बाद दोनों ने हाथ मिला लिया.
उन्होंने कहा कि दोनों के बीच मिलीभगत की वजह से घाटी ने पीडीपी को वोट दिया और जम्मू ने बीजेपी को. दोनों को बड़ा बहुमत मिला, लेकिन विडंबना यह कि दो बड़े दुश्मन एक हो गए. पीडीपी ने घाटी के लोगों के साथ और बीजेपी ने जम्मू के लोगों के साथ विश्वासघात किया. बीजेपी ने पूरे जम्मू-कश्मीर और देश के साथ धोखा किया.

गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने 2014 लोकसभा चुनाव से पहले घाटी में आतंक के खात्मे और शांति बहाली को राष्ट्रीय मुद्दा बनाया जिसके दम पर कश्मीर और देश का चुनाव भी जीत लिया, लेकिन पिछले साढ़े तीन सालों में उन्होंने लोकतंत्र को खत्म कर किया. कश्मीरियत को मटियामेट कर डाला.

उन्होंने कहा कि गुजरे सवा तीन सालों के आधार पर देखा जाए तो राज्य में आतंकी वारदात, फौजियों की शहादत या फिर आम लोगों की मौत, इन सबके आंकड़े काफी बढ़ गए हैं.

घाटी के युवाओं के आतंक की ओर रुख करने को लेकर आजाद ने कहा कि पहले कम पढ़े-लिखे लोग आतंकी बनते थे, लेकिन बीजेपी के वक्त पढ़े-लिखे लोग, डॉक्टर, इंजीनियर, पीएचडी करने वाले सभी आतंक की तरफ मुड़ रहे हैं.
उन्होंने कहा कि बीजेपी ने आर्थिक और राजनीतिक तौर पर कश्मीर को खत्म कर दिया है. उसने देश और जम्मू कश्मीर को धोखा दिया है. और अब सरकार के अलग होकर अपनी जिम्मेदारी से मुक्त नहीं हो सकते. अलगाव के बाद कल से दोनों ने 2014 वाला राग फिर से छेड़ना शुरू कर दिया है. एक बार धोखा दिया बार-बार देंगे.

कांग्रेस के 7 सवाल

इस दौरान गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर मसले पर बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से 7 सवाल भी पूछे. जिसमें राज्य में शांति, आतंकवाद के खात्मे, घुसपैठ पर लगाम, राज्य के आर्थिक विकास, युवाओं के लिए रोजगार और राज्य के लोगों का दिल जीतने की योजना से संबंधित है.
जम्मू कश्मीर के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने कहा कि कल जो कुछ भी हुआ उसकी उम्मीद पहले दिन से थी, जब सरकार बनी थी. बीजेपी ने यह फैसला 2019 में वोट हासिल करने के लिए किया है. उन्होंने कहा कि कोई भी समाज राज्यपाल शासन को पसंद नहीं करता. जितनी जल्द राज्य में राजनीतिक स्थिरता कायम हो सके इसके लिए हम कोशिश करेंगे.
 

Source:Agency