By: Sabkikhabar
13-06-2018 09:14

भोपाल । मध्यप्रदेश सरकार ने स्वामी अखिलेश्वरानंद को कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्रदान किया है। इससे पहले उनको राज्यमंत्री बनाया गया था। स्वामी अखिलेश्वरानंद मध्य प्रदेश गौपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड की एग्जिक्युटिव काउंसिल के चेयरमैन है और अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते आए हैं।

उन्होंने था कि तीसरा विश्वयुद्ध गाय पर होगा और 1857 की क्रांति की वजह भी गाय ही थी। गौरक्षकों पर बोलते हुए उन्होंने कहा था कि मृत गाय को देखकर गुस्सा आना स्वाभाविक है, लेकिन किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए। स्वामी अखिलेश्वरानंद को साल 2010 में निरंजनी अखाड़े ने महामंडलेश्वर बनाया था।
 

Related News
64x64

भोपाल। प्रदेश के कई हिस्सों में बीते दो दिनों में कई हिस्सों में बूंदाबांदी हुई लेकिन गर्मी का असर कम नहीं हुआ। आज शनिवार की सुबह से खिली धूप चुभन…

64x64

सिवनी। एक पखवाड़े से बालाघाट जिले में किडनी चोर गिरोह की अफवाह से दहशत फैली हुई है। अब इसका असर पड़ोसी जिले में भी दिखने लगा है। इससे ग्रामीण सहमे…

64x64

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान पुलिस के सहायक उप निरीक्षक उपचाराधीन श्री अमृतलाल भिलाला के स्वास्थ्य की जानकारी लेने आज निजी अस्पताल पहुँचे। उन्होंने चिकित्सकों और परिजनों से चर्चा कर…

64x64

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज आई.ई.एस. शिक्षण संस्थान द्वारा सीहोर जिले में नव निर्मित स्कूल भवन का उदघाटन करते हुए कहा कि शिक्षकों को छात्र-छात्राओं को पढ़ाने की पद्धति…

64x64

चित्रकूट । डकैत बबली गैंग के जंगल में होने की सूचना पर कॉम्बिंग में गया एस एफ का जवान लापता हो गया है। लापता जवान का नाम सचिन पाण्डेय बताया…

64x64

भोपाल। राजधानी भोपाल के ऐशबाग थाना इलाके में एक युवती के साथ छेड़छाड़ करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि युवती के घर के पास रहने…

64x64

छतरपुर (मध्यप्रदेश)। छतरपुर सहित पूरे प्रदेश में अच्छी वर्षा के लिए प्राचीन मान्यता के तहत शुक्रवार को राज्यमंत्री ललिता यादव ने कार्यकर्ताओं के साथ शहर के प्रसिद्ध फूलादेवी मंदिर में…

64x64

भोपाल। मैनिट के गुणवत्ता मापदंडों पर मप्र का एक भी तकनीकी विश्वविद्यालय खरा नहीं है। इसका कारण एनआईआरएफ में एक से सौ तक की रैंक में इनका नहीं होना है।…