By: Sabkikhabar
07-06-2018 08:00

नई दिल्ली : हरभजन सिंह की खुशमिजाजी के सभी कायल हैं वे लंबे समय से टीम में नहीं हैं, आईपीएल में जिस टीम के साथ उन्होंने सालों बिताए, उस मुंबई इंडियन्स ने भी उन्हें रीटेन नहीं किया. चेन्नई ने उन्हें बेस प्राइस पर ही खरीदा तो भी वे अपने मिजाज के मुताबिक खुश ही रहे. साल 2018 के आईपीएल में भी उन्हें केवल कुछ ही मैचों में खिलाया गया,लेकिन जब भी वे मैदान में दिके उन्हें खेल का मजा लेते ही देखा गया. इस साल वे काफी कूल और खुश भी नजर आए और अपने साथी खिलाड़ियों के साथ हर लम्हे में पूरे जोश के साथ नजर आए. लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं उन्होंने अपने एक साथी क्रिकेटर की भी मदद की जो अपनी जिंदगी से लड़ रहा था.

भज्जी का यह रूप केवल उनके साथी खिलाड़ी के अलावा कोई नहीं जानता वे अपने साथियों की मदद के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं. हरमन हैरी जिन्होंने भज्जी के साथ 1990 में पंजाब के लिए अंडर 16 क्रिकेट खेला था, हाल ही में अपनी आंतों में  ‘परफोरेशन पेरिटॉनिटिस और एनट्रो्क्यूटेनियस फिश्चुला’ (फिश्चुला) के हो जाने से अपनी जिंदगी की लड़ाई लड़ रहे थे. 

1990 के बाद हरभजन तो टीम इंडिया में जगह पाने में सफल रहे लेकिन हैरी का करियर उड़ान नहीं भर सका. लेकिन एक दिन हैरी ने मदद की उम्मीद में भज्जी को फोन लगा दिया. भज्जी ने फौरन ही उसकी मदद करने का फैसला कर लिया. भज्जी ने इंडिया टुडे को बताया, “उसने किसी तरह से मुझसे संपर्क किया और अपनी तकलीफदायक बीमारी के बारे में मुझे बताया. उसे पैसों की सख्त जरूरत थी. मैने उससे कहा कि वह बेझिझक ऑपरेशन करा ले और वादा किया कि मैं सारे जरूरी खर्च देख लूंगा. एक मानव जीवन से बढ़कर कुछ भी नहीं होता.” उन्होंने कहा, “मैने उससे कहा कि वह पैसे को भूल जाए और अपना अच्छे अस्पताल में किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाकर ऑपरेशन कराए.”


आखिर हरमन हैरी को नांग्लोई स्थित राठी अस्पताल में उनका ऑपरेशन हुआ. उनका ऑपरेशन करने वाले डॉ राठी ने कहा  “उनकी हालत काफी खराब होती जा रही थी और उन्हें तुरंत ही ऑपरेशन की जरूरत थी. उन्हें ‘परफोरेशन पेरिटॉनिटिस और एनट्रो्क्यूटेनियस फिश्चुला’ हुआ था. इसमें आंतों या पेट और चमड़ी के बीच असामान्य कनेक्शन विकसित हो जाता है जिसकी वजह से आंतो में से चीजें त्वचा के माध्यम से बाहर आने लगती हैं.”

हरमन हैरी के बारे में खुद हरभजन ने डॉ राठी से बात की और उन्हें आश्वस्त किया कि इलाज का सारा खर्च वे उठाएंगे उसकी चिंता वे न करें और इलाज पर ध्यान दें. बताया जा रहा है कि भज्जी ने पूरे इलाज में करीब ढाई लाख रुपये खर्च किए और आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ व्यस्त कार्यक्रम होने के बावजूद हरभजन ने सुनिश्चित किया कि इलाज में कोई कसर न छूटे.

हरमन ने कहा, “मैं जीवन भर उसका (हरभजन) कर्जदार रहूंगा. उसने साबित किया है कि सच्ची दोस्ती क्या होती है. पिछले साल ही इलाज पर अपनी पूरी बचत खर्च करने के बाद मेरे पास बिलकुल भी पैसा नहीं बचा था. हरभजन एक मसीहा की तरह आया और मुझे मौत के मुंह से निकाल लिया.”
 

Related News
64x64

नई दिल्लीः एकदिवसीय मैचों में हाल ही में लगे रनों के अंबार से चिंतित क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने इस प्रारूप में दो नई गेंदों के इस्तेमाल की आलोचना…

64x64

वोल्गोग्रादऋः रूस में चल रहे फीफा महाकुंभ में शुक्रवार को दूसरा मुकाबला आइसलैंड और नाइजीरिया के बीच हुआ। स्ट्राइकर अहमद मूसा के दूसरे हाफ में दागे गये दो गोल की…

64x64

नई दिल्ली: इस समय दुनिया की नजरें रूस में जारी फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण पर लगी हुई है जिसमें क्रिस्टियानो रोनाल्डो और लियोनल मेसी सहित कई फुटबॉल खिलाड़ी…

64x64

कोटयम (केरल): मौजूदा विश्व कप में अर्जेंटीना के खराब प्रदर्शन से आहत दक्षिण अमेरिकी टीम के धुर प्रशंसक ने यह नोट लिखकर घर छोड़ दिया कि वह अपनी जिंदगी खत्म…

64x64

निजनी नोवगोरोद में क्रोएशिया के हाथों 3.0 से शिकस्त के बाद लियोनेल मेस्सी सिर झुकाए बैठे रहे चूंकि उन्हें अहसास हो गया कि विश्व कप खिताब अपने नाम करने का…

64x64

चेस्टर ली स्ट्रीटः ओपनर जेसन रॉय (101) की शतकीय पारी की मदद से इंग्लैंड ने आॅस्ट्रेलिया को सीरीज के चौथे वनडे में 32 गेंदे शेष रहते छह विकेट से पराजित…

64x64

नई दिल्ली  : सुप्रीम कोर्ट की बनाई  प्रशासकों की समिति (सीओए) और बीसीसीआई के बीच तनातनी में अब भारतीय क्रिकेटरों के वेतन के भुगतान का मामला भी उलझ गया है.…

64x64

हरारेः ब्रैंडन टेलर और सिकंदर रजा को आॅस्ट्रेलिया तथा पाकिस्तान के साथ होने वाली ट्वंटी 20 त्रिकोणीय क्रिकेट सीरीज के लिए जिम्बाब्वे की टीम से बाहर रखा गया है। मार्च…