Breaking News

Today Click 278

Total Click 181217

Date 24-09-18

भोपाल:आसपास घूम रहे बाघ और तेंदुए,30 से ज्यादा स्थानों पर मिले पगमार्क

By Sabkikhabar :12-03-2018 08:32


भोपाल। राजधानी भोपाल के आसपास 7 स्थानों पर बाघ और 25 स्थानों पर तेंदुए के पगमार्क मिले हैं। यह जानकारी 3 दिन तक चली मांसाहारी वन्यप्राणियों की गणना में सामने आई है। गणना में जो साक्ष्य मिले हैं वे चौंकाने वाले हैं। क्योंकि राजधानी से सटे जंगल में 7 स्थानों पर बाघों का मूवमेंट तो ठीक है, लेकिन 25 स्थानों पर तेंदुए के पगमार्क मिलना बड़ी बात है। क्योंकि पगमार्क से अंदाजा लगाया जा रहा है कि भोपाल के आसपास आधा दर्जन बाघ व दो दर्जन तेंदुए हैं। हालांकि फाइनल रिपोर्ट में यह संख्या घट भी सकती है लेकिन यह बात सही है कि भोपाल के आसपास बाघ और तेंदुए की संख्या पहले से बढ़ रही है। इसकी मुख्य वजह रातापानी अभयारण्य से बाघ व तेंदुए का शिकार व पानी की तलाश में भोपाल की तरफ आना है।

साक्ष्य पर गणना का आधार

भोपाल सामान्य वन मंडल के जंगल में 9 मार्च से वन्यप्राणियों की गणना हो रही है। शुरू के तीन दिन तक मांसाहारी वन्यप्राणियों को उनके साक्ष्य के आधार पर गिना गया। अब 15 मार्च तक शाकाहारी वन्यप्राणियों की गिनती होगी। गणना के दौरान मिलने वाले पगमार्क, ट्रैप कैमरे के फोटो व विष्टा आदि की वैज्ञानिक तरीके से पहचान की जाएगी। इसके बाद फाइनल रिपोर्ट जारी होगी।

आसानी से मिलता है शिकार

भोपाल सामान्य वन मंडल के कंजरवेटर फॉरेस्ट डॉ. एसपी तिवारी ने बताया कि भोपाल से सबसे नजदीक समरधा रेंज में बाघ व तेंदुए के जो पगमार्क मिले हैं। वे बताते हैं कि इस रेंज में मांसाहारी वन्यप्राणियों का अधिक दबाव है। इसकी वजह पालतू मवेशियों का जंगल में शिकार के रूप में आसानी से उपलब्ध होना है। साथ ही पानी की उपलब्धता भी अच्छी है।

आज से शुरू होगी शाकाहारी वन्यप्राणियों की गिनती

भोपाल के जंगल में सोमवार से शाकाहारी वन्यप्राणियों की गिनती शुरू होगी, जो 15 मार्च से तक चलेगी। इसके बाद गणना की फाइनल रिपोर्ट बनेगी।
 
 

Source:Agency