By: Sabkikhabar
12-03-2018 08:22

भोपाल। भोपाल स्टेशन का स्वच्छता सर्वेक्षण इसी माह होने वाला है। इसके पहले अधिकारियों ने स्टेशन की दीवारों का रंग-रोगन कर दिया है, डस्टबिन की संख्या बढ़ा दी है, जगह-जगह दिशा सूचक और संकेतक बोर्ड लगाए हैं। लेकिन, चूहे-काक्रोच नहीं मारे, सफाईकर्मियों की संख्या नहीं बढ़ाई। स्टेशन परिसर में नालियों का स्लोप ठीक नहीं किया। स्टेशन के दोनों तरफ यात्रियों के आने-जाने वाले मार्ग में अवैध पार्किंग बंद नहीं की। बता दें कि ये वे पैरामीटर हैं जिनमें भोपाल स्टेशन को कम अंक मिले थे। इसके कारण स्वच्छता रैंकिंग में स्टेशन देशभर में पिछड़ गया था।

क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया की सर्वे टीम ने बीते साल 23 मार्च को स्टेशन का सर्वे किया था। सर्वे के पहले चरण में स्टेशन के दोनों तरफ यात्रियों के आने-जाने वाले एरिए को देखा गया। जहां पर अवैध वाहन खड़े मिले। मुख्य प्रवेश द्वार, प्लेटफार्म, वेटिंग रूम भी देखे। सभी जगह कमी मिली थी। सफाई कर्मियों की संख्या कम मिली। इन पांचों पैरामीटर पर स्टेशन को 333 अंक मिलने थे जो कि 140 अंक ही मिले। अभी भी बीते साल की स्थिति नहीं बदली है क्योंकि यात्रियों के आने-जाने वाले मार्ग पर आए दिन वाहन खड़े रहते हैं। खासकर शाम और सुबह जब ट्रेनों का अधिक दबाव होता है तब यात्रियों का बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है। वेटिंग रूम आए दिन चोक हो जाते हैं। प्लेटफार्म अधिक समय तक साफ नहीं रहते। कर्मचारियों की संख्या बीते साल 84 थी, जो अभी भी इतनी ही है।

डस्टबिन की संख्या बढ़ाई, शौचालयों की साफ-सफाई में पिछड़े

सर्वे टीम ने प्लेटफार्म, स्टेशन परिसर में साफ-सफाई, डस्टबिन की संख्या, शौचालयों की स्थिति, पीने के पानी की उपलब्धता, स्टेशन परिसर से गंदे पानी की निकासी व्यवस्था, वेटिंग रूम की स्थिति, चूहे-काक्रोच और स्टेशन परिसर की सुंदरता जैसे आठ पैरामीटर पर यात्रियों से फीडबैक लिया। इन पर स्टेशन को 333 अंक मिलने थे इनमें से 203 अंक ही मिले। पीने के पानी की उपलब्धता और डस्टबिन की संख्या बढ़ाने के अलावा अधिकारियों ने इन पैरामीटरों में कोई खास सुधार नहीं किया। ऐसे में यात्री फीडबैक में स्टेशन फिर पिछड़ सकता है। क्योंकि ड्रेनेज सिस्टम खराब होने के कारण शौचालय साफ-सुथरे नहीं मिलते, स्टेशन परिसर व प्लेटफार्म पर चूहे-काक्रोच घूमते हैं जिन्हें नहीं मारा गया।

ये भी थी रैंकिंग में पिछड़ने की वजह

- प्लेटफार्मों की चौड़ाई का स्टैंडर्ड साइज 20 मीटर होता है जो 9 मीटर ही चौड़े हैं। इन्हीं पर यात्री व सामान का दबाव रहता है। ठीक से सफाई नहीं होती।

यह हुआः चौड़ाई नहीं बढ़ी। सामान अभी भी समय पर नहीं उठाते।

- प्लेटफार्म-6 पर ग्रेनाइट नहीं लगे, मशीन से सफाई नहीं होती। प्लेटफार्म गंदा रहता है।

यह हुआः लंबाई नहीं बढ़ाई।

- 200 से अधिक भिखारी स्टेशन परिसर में डेरा डाले रहते हैं, जो गंदगी फैलाते हैं, अवैध वेंडर हावी हैं।

यह हुआः स्टेशन भिखारियों से मुक्त नहीं हुआ। अवैध वेंडर हावी है।

ये काम देंगे राहत

- तीन मंजिला नई बिल्डिंग का 80 फीसदी पूरा हुआ है। इसके शुरू होने से यात्री सुविधाएं बढ़ेंगी।

- प्लेटफार्म-6 की तरफ जालीदार फेंसिंग की है, रंग रोगन भी कर दिया है। बीना आउटर की तरफ सीढ़ियों व शेड का काम पूरा हुआ हैं

- प्लेटफार्मों पर वॉटर वेंडिंग मशीनें लग गईं हैं, यात्रियों को इसका फायदा मिल रहा है।

ये लापरवाही पड़ेंगी भारी

- एक नंबर एंट्री की तरफ स्टेशन की दीवारें गंदी रहती हैं। आवारा तत्व टॉयलेट कर देते हैं। गंदगी रहती हैं।

- प्लेटफार्म पर लगे शेड लीकेज हैं। बारिश में प्लेटफार्म गीले हो जाते थे। यात्री परेशान हुए हैं। सर्वे टीम द्वारा लिए जाने वाले यात्री फीडबैक में यह बात सामने आई तो नुकसान होगा।

- शेड के ऊपर गंदगी है, नालियों का कचरा साफ नहीं होता।
 

Related News
64x64
राजगढ़ । जिले में हायवे हो रही लूट.कि घटनाओं पर एसपी की सख्ती एवं तत्परता से ब्यावरा के समीप हुई लूट के आरोपियों को पुलिस नें महज चार दिनो में…
64x64

लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों पर गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि यदि इन अपराधों पर कठोर नियंत्रण स्थापित नहीं किया…

64x64

भोपाल। राजधानी की निशातपुरा थाना पुलिस ने कुख्यात बदमाश जुबैर मौलाना समेत लूट-पाट मचाने वाले सात आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार करने में कल शनिवार को सफलता हासिल की है।…

64x64

इंदौर। 5 लाख 50 हजार के बदले 300 करोड़ रुपए की बारिश का झांसा देकर बहरूपियों ने पुणे के पेट्रोल पंप संचालक से 1 करोड़ 75 लाख रुपए ठग लिए।…

64x64

भोपाल। विधानसभा चुनाव को लगभग छह माह बचे हैं, लेकिन कांग्रेस अभी भी समन्वय की कमी के चलते जितनी ढपली उतने राग वाली स्थिति में है। आलम यह है कि…

64x64

भोपाल। भोपाल स्टेशन पर यात्रियों को चौबीस घंटे इलाज मुहैया कराने का करार डेढ़ महीने में ही टूट गया। यह करार रेलवे और राजधानी के एक निजी अस्पताल के बीच…

64x64

भोपाल। 12 साल तक की बच्चियों से दुष्कर्म करने वालों को फांसी की सजा देने के अध्यादेश में देश के हर जिले में 'वन स्टॉप सेंटर' खोलने का भी प्रावधान…

64x64

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी समुदायों से अपील की है कि वे अपने-अपने समुदायों में युवाओं को कैरियर  और शिक्षा संबंधी परामर्श देने के लिये प्रकोष्ठ बनाएं। उन्होंने…