By: Sabkikhabar
12-03-2018 08:21

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने रविवार को पचमढ़ी के आदिवासी ग्राम पगारा में महिलाओं से सीधा संवाद किया और स्कूली बच्चों एवं ग्रामीणों से चर्चा की। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि महिलाएं परिवार के साथ-साथ अपने स्वास्थ पर भी ध्यान दें। श्रीमती पटेल ने कहा कि महिलाएं अपनी शारीरिक समस्याओ को कभी भी न छिपाएं, तत्काल चिकित्सकीय सहायता लें। राज्यपाल ने कहा कि 40 वर्ष की उम्र के बाद सभी महिलाएं समय-समय पर अपना स्वास्थ्य परीक्षण अनिवार्य रूप से कराएं। उन्होने केन्द्र सरकार की मातृ वंदना योजना की जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई यह योजना गर्भवती महिलाओं की बेहतरी के लिए बनाई गई है। इस योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को 6 हजार रूपए की आर्थिक सहायता राशि दी जाएगी। राज्यपाल ने कार्यक्रम में मौजूद ग्रामीणों से कहा कि वे महिलाओं के खान-पान का विशेष ख्याल रखें। गर्भवती महिला आंगनबाडी केन्द्र के माध्यम से मिलने वाले पोषण आहार को अवश्य ग्रहण करें।

राज्यपाल ने ग्रामीणों से कहा कि सभी माता-पिता समय निकालकर बच्चों के स्कूल में जाकर शिक्षकों से मिलें एवं अपने बच्चों के शैक्षणिक स्तर तथा अन्य गतिविधियों एवं प्रतिभा के बारे में जानकारी लें। उन्होने कहा कि पढ़ाई केवल नौकरी पाने के लिए नहीं की जाती, अपितु पढ़ाई से जीवन को बेहतर बनाया जा सकता है। श्रीमती पटेल ने कहा कि सभी माता-पिता अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए विशेष प्रयास करें। यदि हमारे बच्चे अच्छे से पढ़-लिखकर आगे बढेगें, तो एक दिन पूरे विश्व में भारत का नाम रौशन करेंगे और एक समय ऐसा आएगा कि विश्व में भारत ही भारत दिखाई देगा। उन्होने बच्चों से कहा कि अपनी पढ़ाई के लिए कहीं बाहर भी जाना पडे तो वे बाहर जाने में संकोच न करे। राज्यपाल ने कहा कि पढ़ाई केवल नौकरी के लिए नहीं होती है, पढ़ाई से हम अपने विचारों तथा जीवन को बेहतर बना सकते हैं। उन्होने कहा कि शासन की योजना का लाभ सभी को बराबर मिलना चाहिए। यह जिम्मेदारी केवल अधिकारियों की नहीं है, बल्कि समाज के पढ़े-लिखे लोगों की भी जिम्मेदारी है।

राज्यपाल ने ग्रामीणों को बताया कि गर्भपात कराना गलत है। ग्राम पगारा में आयोजित कार्यक्रम में श्रीमती पटेल ने ग्रामीणों को समाझाया कि आज के युग में बेटा और बेटी बराबर हैं। बेटा और बेटी में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करना चाहिए। दोनों को बराबर समझना चाहिए। श्रीमती पटेल ने कहा कि बेटियां लक्ष्मी के समान है। इसलिए गर्भ परीक्षण कर बेटी होने की संभावना होने पर गर्भपात कराना गलत है, पाप के समान है। उन्होने म.प्र.शासन की लाडली लक्ष्मी योजना की जानकारी देते हुए बताया कि माता-पिता बेटियों को भार न समझें। इसलिए लाडली लक्ष्मी योजना प्रारंभ की गई है। उन्होने इस योजना का लाभ उठाने की अपील की।

बेटियों की पढ़ाई न छुडाएं : श्रीमती पटेल ने ग्रामीणों को समझाईश दी की यदि बेटियों का स्कूल दूर है, तो भी बेटियों को अनिवार्य रूप से स्कूल भेजें। दूरी की वजह से बेटियों की पढ़ाई न छुडाएं। उन्होने अपना उदहारण देते हुए बताया कि उनका स्कूल उनके घर से 8 कि.मी. दूर था। स्कूल दूर होने के बावजूद उन्होने पढ़ाई जारी रखी। वे प्रतिदिन पढ़ाई के लिए 16 कि.मी. की दूरी तय करती थीं।

श्रीमती पटेल ने ग्राम पगारा के बारे में महिलाओं एवं ग्रामीणों से जानकारी ली। ग्रामीणों ने उन्हें गांव की समस्याओं से अवगत कराया। गांव की एक महिला ने बताया कि गांव में पानी की टंकी की जरूरत है। राज्यपाल ने पानी की टंकी का निर्माण शीघ्र कराने के निर्देश दिए। ग्राम पगारा में आयोजित कार्यक्रम में शासकीय हाईस्कूल सिंगानामा की छात्राओं ने लोक नृत्य की प्रस्तुति दी।

राज्यपाल ने ग्राम पगारा में पल्स पोलियो अभियान का किया शुभारंभ : राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने होशंगाबाद जिले के ग्राम पगारा के आंगनबाडी केन्द्र में पल्स पोलियो अभियान के द्वितीय चरण का शुभारंभ किया। उन्होने आंगनबाड़ी केन्द्र में बालिका कुमारी प्राशिका को पोलियों की दवा पिलाई। राज्यपाल ने आंगनबाडी केन्द्र के पीछे बन रहे प्रधानमंत्री आवास का निरीक्षण भी किया। राज्यपाल ने पगारा में स्कूली बच्चों तथा आंगनबाडी के बच्चों को फलों की टोकरियां एवं चॉकलेट बाँटी। श्रीमती पटेल ने इस अवसर पर लाडली लक्ष्मी योजना के तहत कुमारी तनिष्का को लाडली लक्ष्मी योजना का प्रमाण पत्र प्रदान किया।

कार्यक्रम में अधिकारियों के साथ सरपंच श्रीमती रेणुका मेहरा एवं ग्रामीण जन मौजूद थे।

राज्यपाल ने प्राकृत रेशम केन्द्र का किया निरीक्षण : राज्यपाल श्रीमती पटेल ने पचमढी में प्राकृत रेशम केन्द्र का निरीक्षण किया। राज्यपाल ने प्राकृत रेशम केन्द्र में शहतूत के पौधों के खेती, रेशम के कीड़ों का पालन तथा रेशन के कीड़े से धागा तैयार करने की प्रक्रिया की जानकारी ली। उन्होने केन्द्र में विभिन्न प्रकार के रेशमी धागों का भी अवलोकन किया। राज्यपाल ने रेशम केन्द्र के अधिकारियों से शहतूत की खेती करने वाले कृषको को दी जाने वाली सहायता के बारे में जानकारी ली। उन्होने इंन्क्यूबेशन रूम एवं कोल्ड स्टोरेज का निरीक्षण किया। राज्यपाल ने रेशम से बने विभिन्न प्रकार के वस्त्रों का भी अवलोकन किया। रेशम अधिकारियों ने राज्यपाल श्रीमती पटेल को रेशम से बनी शाल भेंट की। राज्यपाल ने पंचमढी के राजेन्द्रगिरी में कदम का पौधा लगाया।

पनारपानी में औषधी पौधों का अवलोकन : बड़ा महादेव में किया पूजन अर्चन : राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने सतपुडा टाईगर रिर्जव के पनारपानी में पहुंचकर बटरफ्लाई पार्क तथा वहां लगे औषधी पौधों का अवलोकन किया। मौके पर मौजूद सतपुडा टाईगर रिर्जव के अधिकारियों एवं वन विभाग के अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने राज्यपाल को विभिन्न प्रजाति के पौधों के औषधीय गुणों के बारे में जानकारी दी। राज्यपाल ने पाषाण काल की रॉक पेंटिंग का भी अवलोकन किया।

पंचमढी प्रवास के दौरान आज राज्यपाल बड़ा महादेव मंदिर पहुंची। बड़ा महादेव मंदिर में उन्होने जलाभिषेक कर बेलपत्र अर्पित कर विधिवत पूजा-अर्चना की। राज्यपाल ने बड़ा महादेव मंदिर में चांदी का शिवलिंग तथा त्रिशूल अर्पित किया। उन्होने मंदिर प्रांगण में हनुमान मंदिर में दर्शन भी किये।
 

Related News
64x64
राजगढ़ । जिले में हायवे हो रही लूट.कि घटनाओं पर एसपी की सख्ती एवं तत्परता से ब्यावरा के समीप हुई लूट के आरोपियों को पुलिस नें महज चार दिनो में…
64x64

लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन ने महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों पर गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि यदि इन अपराधों पर कठोर नियंत्रण स्थापित नहीं किया…

64x64

भोपाल। राजधानी की निशातपुरा थाना पुलिस ने कुख्यात बदमाश जुबैर मौलाना समेत लूट-पाट मचाने वाले सात आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार करने में कल शनिवार को सफलता हासिल की है।…

64x64

इंदौर। 5 लाख 50 हजार के बदले 300 करोड़ रुपए की बारिश का झांसा देकर बहरूपियों ने पुणे के पेट्रोल पंप संचालक से 1 करोड़ 75 लाख रुपए ठग लिए।…

64x64

भोपाल। विधानसभा चुनाव को लगभग छह माह बचे हैं, लेकिन कांग्रेस अभी भी समन्वय की कमी के चलते जितनी ढपली उतने राग वाली स्थिति में है। आलम यह है कि…

64x64

भोपाल। भोपाल स्टेशन पर यात्रियों को चौबीस घंटे इलाज मुहैया कराने का करार डेढ़ महीने में ही टूट गया। यह करार रेलवे और राजधानी के एक निजी अस्पताल के बीच…

64x64

भोपाल। 12 साल तक की बच्चियों से दुष्कर्म करने वालों को फांसी की सजा देने के अध्यादेश में देश के हर जिले में 'वन स्टॉप सेंटर' खोलने का भी प्रावधान…

64x64

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी समुदायों से अपील की है कि वे अपने-अपने समुदायों में युवाओं को कैरियर  और शिक्षा संबंधी परामर्श देने के लिये प्रकोष्ठ बनाएं। उन्होंने…