By: Sabkikhabar
12-03-2018 06:17

मप्र की तीन दिवसीय यात्रा पर आईं अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन रविवार रात 8 बजे इंदौर पहुंचीं। यहां से 8.25 बजे सड़क मार्ग से वे महेश्वर के लिए रवाना हुई और 10.23 बजे वहां पहुंचीं। कड़ी सुरक्षा के बीच वे सीधे राजवाड़ा परिसर में बने होटल अहिल्या फोर्ट गई। यहां उनका स्वागत शिवाजीराव होलकर (प्रिंस रिचर्ड होलकर) ने किया और रात्रि भोज दिया।

राज परिवार के सूत्रों के अनुसार भारत पहुंची हिलेरी उनके आग्रह पर उनके 'स्टेट' महेश्वर पहुंची हैं। अमेरिकी नागरिकता प्राप्त रिचर्ड होलकर को अमेरिका जाना था। इस कारण हिलेरी ने कार्यक्रम में परिवर्तन कर मप्र में सबसे पहले महेश्वर यात्रा को चुना। इसके बाद वे राजस्थान जाएंगी। पहले वह सबसे बाद में महेश्वर आने वाली थीं।

हिलेरी के लिए बिलकुल साधारण कमरा पसंद किया गया है। होटल अहिल्या फोर्ट के लक्जरी रूम को हिलेरी के साथ आए सुरक्षाकर्मियों ने सुरक्षा की दृष्टि से रिजेक्ट कर दिया। होटल के दक्षिणी छोर पर किले के झरोखे से नर्मदा दर्शन वाला कमरा भी सुरक्षा कारणों से नहीं लिया गया। किला परिसर के बीचोबीच बने कमरे बुलबुल, कचनार और चंपा को हिलेरी के रुकने के लिए तैयार किया गया है। इनमें से एक कमरा उनके साथ आए सुरक्षाकर्मी ऐनवक्त पर तय करेंगे। अहिल्या फोर्ट में कमरों को नंबर के बजाय उनके आगे वृक्ष, चिडि़या के घोंसले सहित अन्य कोई प्रतीक चिन्ह के नाम से जाना जाता है। यहां रात्रि भोज में भारतीय, नेपाली और कॉन्टिनेंटल व्यंजन बनाए गए। भोजन में खासतौर पर आम रस रखा गया।

हिलेरी 12 मार्च को सुबह 9 बजे मांडू रवाना होंगी। वहां की ऐतिहासिक धरोहर देखने के बाद दोपहर में पुन: महेश्वर आएंगी। 13 मार्च को सुबह 9 बजे इंदौर पहुंचेंगी। हिलेरी के रकने के दौरान पूरी सुरक्षा व्यवस्था अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी के पास रहेगी। उनकी सुरक्षा में 16 लोग लगे हैं जिनमें 8 लोग एक सप्ताह से होटल में मौजूद हैं। सितारा हैसियत वाली होटल अहिल्या फोर्ट को पूरी तरह से खाली रखा गया है। यहां दो दिन से हिलेरी के आठ सुरक्षाकर्मियों के अलावा कोई मेहमान नहीं रुका है।

20 मिनट प्लेन में ही बैठी रहीं अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री

हिलेरी इंदौर में लैंडिंग के बाद करीब 20 मिनट विमान में बैठी रहीं। विमानतल पर उतरते ही एसडीएम शालिनी श्रीवास्तव ने उनका स्वागत किया। एयरपोर्ट लॉबी में लगी देवी अहिल्या की तस्वीर के बारे में पूछने पर एसडीएम ने उन्हें देवी अहिल्या के जीवन के बारे में संक्षिा जानकारी देते हुए बताया कि इंदौर और महेश्वर दोनों ही जगह की वे शासक रहीं। उन्हीं की स्मृति में इस एयरपोर्ट का नाम भी रखा गया है। 2016 के राष्ट्रपति चुनाव कैंपेन में प्रमुख भूमिका निभाने वाली हुमा महमूद अबेदीन भी निजी स्टाफ के तौर पर हिलेरी के साथ हैं।
 

Related News
64x64

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर रूस पर जुबानी हमला बोला है. उन्होंने कहा कि रूस के प्रति अब तक उनसे ज्यादा सख्त हमला किसी…

64x64

नई दिल्ली  । जामिया मिलिया इस्लामिया के एजेके मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर के छात्र रह चुके दानिश सिद्दिकी को पत्रकारिता जगत के प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।…

64x64

हेग: ब्रिटेन ने रासायनिक हथियारों पर दो दशक से लागू अंतराष्ट्रीय प्रतिबंध तोडऩे का बुधवार को रूस पर आरोप लगाया। गौरतलब है कि एक पूर्व रूसी जासूस को पिछले महीने…

64x64

वाइट हाउस कैबिनेट में शामिल होने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी निकी हेली का पद खतरे में है। ऐसा माना जा रहा है कि राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप हेली को भविष्य में संभावित…

64x64

उत्‍तर कोरिया और दक्ष‍िण कोरिया के नेताओं के बीच 27 अप्रैल को बैठक होगी. इस बैठक को 'साउथ-नॉर्थ समिट 2018' नाम दिया गया है. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं…

64x64

लंदन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पांच दिन के विदेश दौरे के दूसरे पड़ाव में ब्रिटेन बहुंच गए हैं। प्रधानमंत्री मोदी का लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर यूके के विदेश सचिव…

64x64

वैज्ञानिकों ने पर्यावरण प्रदूषण के लिए जिम्मेदार एक बड़ी समस्या के निदान में कामयाबी पाई है। उनका दावा है कि, उन्होंने एक ऐसा एंजाइम बनाया है जो आम तौर पर…

64x64

अमेरिका ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) को जानकारी दी है कि डॉनाल्ड ट्रंप सरकार द्वारा इस्पात, एल्युमीनियम और चीन से आयातित अन्य सामानों पर लगाए गए शुल्क के मुद्दे पर…