By: Sabkikhabar
09-01-2018 05:39

नई दिल्ली। लंबे समय तक चलने वाला डोकलाम विवाद भले ही खत्म हो चुका है, लेकिन भारत और चीन के बीच एक बार फिर विवाद अब नए दौर में प्रवेश करता हुआ दिखाई दे रहा है। पिछले कुछ हफ्तों में भारत के पूर्वी राज्य अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर दोनों देशों के बीच लगातार गतिरोध देखने को मिल रहा है। हाल ही में अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर पीपुल्स आर्मी द्वारा रोड़ बनाने की घटना सामना आई थी, लेकिन अब खबर है कि चीन नए तरीकों से पूरे 4,057 किमी वाली लंबी लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर अतिक्रमण करने की कोशिश में है। अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर तनाव अंग्रेजी अखबार द इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर हाल ही में चीन का एक बुल्डोजर दिखाई दिया था, जिससे ऐसा लगता है कि इस क्षेत्र में भी डोकलाम जैसा गतिरोध देखने को मिल सकता है। पिछले साल भूटान के डोकलाम क्षेत्र पर भारत और चीन की सेना करीब 80 दिनों तक खड़ी थी। दोनों देशों के बीच चलने वाला यह अब तक का सबसे बड़ा गतिरोध था। सीमा समझौते को प्रभावित करना चाहता है चीन चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अपनी सेना को हर युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए बहुत बार कह चुके हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि सीमा पर चीन की सेना बहुत उत्तेजित दिखाई दे रही है, जो सीमा पार कर भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा है। चीन सीमा पर इस नए विवाद से दोनों देशों के बीच सीमा समझौते को भी प्रभावित कर सकता है। अरुणाचल पर समझौते की कोई गुंजाइश नहीं है... डोकालाम विवाद के बाद दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को लेकर द्विपक्षीय वार्ता हो चुकी है। चीन की मांग है कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग वाले क्षेत्र को उसे दे दिया जाए। दोनों देश तवांग पर अटके हुए हैं, चीन का मानना है कि तवांग के चर्चा किए बगैर सीमा विवाद का हल संभव नहीं है, वहीं भारत बहुत पहले ही स्पष्ट कर चुका है कि अरुणाचल को लेकर किसी भी प्रकार के समझौते की गुंजाइश नहीं है। भारतीय अधिकारियों के मुताबिक, तवांग की आबादी को उस क्षेत्र के अनुसार बसाया गया है। अरुणाचल को फिर बताया तिब्बत का हिस्सा... इस साल के पहले सप्ताह में ही चीन की पीपुल्स आर्मी को एलएसी पर रोड़ बनाने के सामानों के साथ देखी गया था। उसके बाद चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने भी अरुणाचल प्रदेश को भारत के अस्तित्व को लेकर इनकार किया था। चीन विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनियांग ने भारत के अभिन्न राज्य अरुणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताया था।  

Related News
64x64

लंदनः भारतीय प्राधिकारी द्वारा ब्रिटेन सरकार को लिखे  एक पत्र के बाद ब्रिटेन के एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि खालिस्तान समर्थन वाले एक  ब्रिटेन सरकार की  खालिस्तान समर्थन…

64x64

नई दिल्ली: ज्यादातर लोग अपनी जरूरतों को लेकर लापरवाह होते हैं, लेकिन बच्चों के मामले में कोई समझौता नहीं करते. बच्चों को बढ़िया से बढ़िया चीज देना चाहते हैं. ऐसे…

64x64

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में स्थित ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के सामने  15 जुलाई  को आत्मघती हमला किया गया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक के दारुलमन इलाके में…

64x64

मॉस्को: क्रोएशिया की राष्ट्रपति ने उम्मीद जताई कि अमेरिका और रूस के राष्ट्रपति ‘जिम्मेदारी’ से काम करेंगे तथा और अपनी पहली शिखर वार्ता के दौरान दोनों याद रखेंगे कि दुनिया…

64x64

वॉशिंगटनः पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव पर पूरी दुनिया की नजरें टिकी हुई हैं। इस चुनाव के खिलाफ अमरीका में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।…

64x64

पेशावर : पाकिस्तान की दो चुनावी रैलियों को निशाना बनाकर किए गए शक्तिशाली बम विस्फोटों में शुक्रवार को एक शीर्ष राष्ट्रवादी नेता समेत कम से कम 133 लोगों की मौत…

64x64

 न्यूयार्कः  जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर की वजह ओवेरियन (गर्भाशय) कैंसर पाए जाने  के बाद  अमरीका के मिसौरी प्रांत की सेंट लुइस सर्किट अदालत ने जॉनसन कंपनी को 22 पीड़ित…

64x64

लंदन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ब्रिटेन की पहली राजकीय और विवादित यात्रा के खिलाफ व्यापक विरोध प्रदर्शन हुए और इस क्रम में डायपर में ‘‘ट्रंप बेबी’’ का एक विशाल…