By: Sabkikhabar
11-10-2017 08:25

सांता रोजा। अमेरिका के उत्तरी कैलिफोर्निया के जंगलों में सोमवार को फिर भीषण आग लग गई है। तेज हवाओं के चलते आग तेजी से फैलती जा रही है। आग इतनी भयानक है कि डिज्नीलैंड के कैलिफोर्निया एडवेंचर पार्क के ऊपर का आसमान नारंगी रंग का हो गया।
आग से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1500 से अधिक मकान खाक हो चुके हैं। करीब 20 हजार लोगों को पलायन करना पड़ा है। कई लोग लापता हैं। मृतकों में 99 और 100 साल का एक दंपती भी शामिल है। 100 से अधिक लोग घायल हैं।
प्रांत में आग लगने की बीते एक दशक की यह सबसे भयावह घटना बताई जा रही है। कैलिफोर्निया डिपार्टमेंट ऑफ फॉरेस्ट्री एंड प्रोटेक्शन के मुताबिक, इस साल जंगलों में आग के 7,484 मामले सामने आए, जिसमें 7.71 एकड़ इलाका जल गया। पांच काउंटी में आपात स्थिति की घोषणा कैलिफोर्निया के गवर्नर जेरी ब्राउन ने वाइन, नेपा, सोनोमा, यूबा और ऑरेंज काउंटी में आपात स्थिति की घोषणा कर दी है।
उन्होंने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से राहत और बचाव कार्य में मदद का आग्रह किया है। कैलिफोर्निया के वन विभाग के अनुसार, सबसे ज्यादा नुकसान सांता रोजा में हुआ है। आग की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि लपटों को अंतरिक्ष से भी देखा गया है।
नेशनल ओशनिक एंड एटमॉसफेरिक एडमिनिस्ट्रेशन ने सैटेलाइट से आग देखे जाने की सूचना दी। कैलिफोर्निया में अग्निशमन विभाग के प्रवक्ता डेनियल बर्लेंट के अनुसार, उत्तरी कैलिफोर्निया के जंगलों में रविवार देर रात आग भड़की। इस दौरान 80 किमी घंटे की गति से चल रहीं तेज हवाओं के चलते आग 73 हजार एकड़ के दायरे में फैल गई। इसे बुझाने के लिए सैकड़ों दमकलकर्मी सोमवार को जूझते रहे। सोनोमा काउंटी के दो अस्पतालों को भी खाली कराना पड़ा है।
दुनिया का एकमात्र विमान 747 सुपर टैंकर बुझा सकता है आग
कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग को दुनिया का एकमात्र विमान 747 सुपर टैंकर ही बुझा सकता है। यह एक बार में 75 हजार लीटर से अधिक (20 हजार गैलन) पानी गिरा सकता है। कैलिफोर्निया प्रशासन इस विमान की मदद से आग से निपटने की कोशिश कर रहा है।
सोमवार को इसने आग के ऊपर छह चक्कर लगाकर पानी गिराया। दिलचस्प बात यह है कि सुपर टैंकर को जेल, फोम और पानी से महज 30 मिनट में भरा जा सकता है और यह 600 मील प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है।
इसलिए अक्सर लगती है आग
कैलिफोर्निया के दक्षिणी तट से चलने वाली अत्यधिक सूखी हवा के कारण यहां अक्सर आग लगती है। यह सूखी हवा अत्यधिक गर्म होती है। इसी से सूखे जंगलों में आग लग जाती है। विशेषज्ञों के मुताबिक, हवा की रफ्तार तेज होने पर घर्षण से निकली हर चिंगारी शोला बन जाती है।
 
 

Related News
64x64

वर्चस्व ब्रेकिंग - 

अर्जुनसिंह की पत्नी ने बेटे के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत की। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल सिंह पर लगाए गंभीर आरोप। भोपाल कोर्ट…

64x64
रीवा से आ रही सेमरिया की और अनियमित होकर पलटी वोलेरो, बाल बाल बचे वाहन सवार ............................................................................. कुबेर कचेर, ब्यूरो चीफ सीधी .................................................................................. सीधी -- सेमरिया निवासी महेश नामदेव के…
64x64

भोपाल। प्रदेश में नियमों को दरकिनार कर आवासीय कॉलोनियों में भूखंड का उपयोग परिवर्तन करने के मामलों से निपटने के लिए सरकार अलग से नियम बनाएगी। नए पट्टा नवीनीकरण नियम…

64x64

पेइचिंग। चीन के पश्चिमी इलाके में खास तरह के शिविर चल रहे हैं जिनमें रखे गए मुस्लिमों को अपने धार्मिक विचार त्यागकर चीनी नीति और तौर-तरीकों और कम्युनिज्म का पाठ…

64x64

 मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक महिला की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. आशंका है कि पति ने ही बेरहमी से महिला का कत्ल कर दिया. पोस्टमार्टम…

64x64

 भोपाल। प्रदेश में नियमित और पदोन्नति के रिक्त पदों पर संविदा नियुक्ति मिलेगी। ऐसी हर नियुक्ति के लिए कैबिनेट की मंजूरी लेनी होगी। प्रस्तावों का परीक्षण सामान्य प्रशासन विभाग की…

64x64

दिल्ली: कैमरा निर्माता कंपनी GoPro ने भारत में अपना नया कैमरा पेश किया है. कंपनी द्वारा भारत में इसकी कीमत 60,000 रुपये रखीं गई है. यह कैमरा  360 डिग्री वीडियो…

64x64

मॉस्को. रूस में सोमवार को व्लादिमीर पुतिन चौथी बार राष्ट्रपति पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। लेकिन इसके पहले ही उनका विरोध भी शुरू हो चुका है। हजारों लोगों ने पुतिन के…