By: Sabkikhabar
09-10-2017 08:23

मशहूर वकील प्रशांत भूषण ने कहा है कि वह ‘द वायर’ की ओर से जय शाह द्वारा किये जाने वाले मानहानि का मुकदमा लड़ेंगे। भारतीय जनता पार्टी की तरफ से रविवार को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि जय शाह रपट के लेखक और ‘द वायर’ के संपादकों और मालिकों के खिलाफ 100 करोड़ रुपये की दीवानी और आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे। इसी पर ट्वीट करते हुए भूषण ने लिखा, ”अदालत में जय शाह से उसके सुनहरे 50हजार ->80 करोड़ के ‘एग्री बिजनेस/स्‍टॉक ट्रेडिंग/विंड बिजनेस के बारे में क्रॉस एग्‍जामिन करने में मजा आएगा।” भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह के बेटे (जय शाह) के बचाव के लिए खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल मीडिया के सामने आए। उन्‍होंने कहा, ”दुर्भावनापूर्ण तरीके से रपट के जरिए हमारे नेता अमित शाह की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। जय शाह ने लेखक, संपादक और समाचार वेबसाइट के मालिकों के खिलाफ 100 करोड़ रुपये का आपराधिक और दीवानी मानहानि का मुकदमा दायर करने का निर्णय लिया है।”
भूषण के इस ऐलान के बाद ट्विटर पर लोगों ने कहा कि अब इस मामले की अदालती कार्रवाई देखने को मिलेगी। चिन्‍मय ने कहा, ”द वायर के लिए स्‍टैंड लेने हेतु धन्‍यवाद। ईमानदार पत्रकारिता को जीवित रहने की जरूरत है।” तपन ने कहा, ‘सही है, बढ़‍िया मुकाबला होने वाला है।’
गोयल ने कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों को भी खारिज करते हुए कहा कि यह ‘पुरानी कांग्रेस शैली’ है। उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि कांग्रेस भी स्पष्ट करे कि यदि उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है, तो उन्हें गांधी परिवार के लेन-देन से संबंधित न्यायमूर्ति ढींगरा आयोग की रपट को रोकने के लिए अदालत में नहीं जाना चाहिए।”
गोयल ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि इस देश में बैंकों या एनबीएफसी (गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों) से ऋण लेने पर कोई रोक है। और सभी ऋण कानून के अनुसार ब्याज की व्यावसायिक दरों पर लिए गए हैं और उसके लिए जमानत भी दी गई है। एनबीएफसी से लिया गया ऋण पूरी तरह ब्याज के साथ अदा कर दिया गया है।” उन्होंने कहा कि जय शाह ने अपने सभी लेनदेन का पूरा विवरण दिया है और ‘द वायर’ के संवाददाता द्वारा पूछे गए ‘सभी सवालों के जवाब में विस्तार से दिया’ है, क्योंकि ‘उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है’।
टेम्पल एंटरप्राइज के कारोबार में 80 करोड़ रुपये की अचानक बढ़त पर गोयल ने कहा कि यह कंपनी कृषि-वस्तुओं का कारोबार कर रही थी, जिसमें ‘अधिक मात्रा और ऊंचे मूल्य तो हैं, लेकिन लाभ मार्जिन कम’ है। उन्होंने कहा, “यहां तक कि अगर आप कुछ लेनदेन करते हैं, तो मात्रा बहुत अधिक हो जाती है। कमोडिटी कारोबार में 80 करोड़ रुपये कोई बड़ा कारोबार नहीं है।”
उन्होंने कहा, “यह दुर्भावनापूर्ण और निंदनीय प्रयास है। हम इन सभी आधारहीन आरोपों को पूरी तरह खारिज करते हैं और जय शाह के कारोबार का भरोसा इस सच्चाई से जाहिर होता है कि उन्होंने मानहानि का मुकदमा दाखिल करने का तत्काल फैसला किया है।”
 

Related News
64x64

केंद्र सरकार ने बैंक अकांउट  को आधार से लिंक करने के लिए 31 मार्च तक समय दे दिया है. सरकार ने इसकी 31 दिसंबर की डेडलाइन को बदलने को लेकर…

64x64

टोक्यो।  बुधवार को जापान के ओकिनावा में एक प्राथमिक विद्यालय के मैदान में अमेरिकी सैन्य हेलीकॉप्टर की एक खिड़की गिरने से एक छात्र घायल हो गया। इसके लिए अमेरिकी सेना…

64x64

भोपाल। मध्यप्रदेश में चार अलग-अलग हादसों में 13 लोगों की मौत हो गई। बैतूल के पास दो बाइक की टक्कर के बाद घायलों को उठा रहे लोगों को डंपर ने…

64x64

भोपाल। राजधानी की साईबर क्राइम ब्रांच ने ऐसे दो ईनामी बदमाशों को पकड़ने में सफलता हासिल की है जो अपने सहयोगियों के साथ मिलकर लोन देने के नाम पर लाखों…

64x64

पूर्व क्रूजरवेट चैंपियन और बड़े सुपरस्टार रिच स्वान को तगड़ा झटका लगा हैं। उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। और जैसे ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया तो WWE…

64x64

परमाणु हथियार सम्पन्न उत्तर कोरिया ने इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षण के बाद अमेरिका, दक्षिण कोरिया और जापान ने उत्तर कोरिया से दागी जाने वाली मिसाइलों का पता लगाने के लिये…

64x64

भोपाल।  एक लड़की का आईएएस बनने का सपना टूटा और अब उसकी शादी भी टूटने की कगार पर है। सपने को पूरा करने वह शादी करना नहीं चाहती थी, लेकिन…

64x64

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 45 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। आईआरसीटीसी होटल रखरखाव आवंटन में कथित…