By: Sabkikhabar
12-08-2017 07:30

भोपाल... केंद्र सरकार की अनिवार्य सेवानिवृत्ति कार्यवाही की जद में आए एमपी के पहले आईएएस अधिकारी एमके सिंह 1000 करोड़ के जमीन और खरीदी घोटाले के आरोपी हैं। इन्हीं घपलो को लेकर सिंह के विरुद्ध लोकायुक्त में 12 केस दर्ज हैं। उधर, पारिवारिक तौर पर भी सिंह के रिश्ते काफी उलझन भरे रहे। लगभग 10 साल से वे अपनी आईएएस पत्नी से अलग रह रहे हैं।
मंत्रालय में ओएसडी के पद पर छह माह से पदस्थ रहे 1985 बैच के आईएएस अधिकारी सिंह को कल जिला प्रशासन के अफसरों की मौजूदगी अनिवार्य सेवानिवृत्ति का आदेश थमाया गया। आदेश के साथ सरकार की ओर से उन्हें तीन माह का अग्रिम वेतन भी दिया गया है। सिंह पर ओरछा की 400 करोड़, सागर की 250 करोड़, जबलपुर की 250 करोड़, रीवा की 70 करोड़ रुपए की जमीन सरकारी से निजी करने का आरोप है जिसकी जांच की जा रही है। इसके अलावा अशोकनगर की भी करोड़ों की जमीन के मामले में गलत फैसले के चलते वे जांच के घेरे में हैं। इन घोटालों के चलते लोकायुक्त  ने इनके विरुद्ध 12 मामले में जांच शुरू कर रखी है। सरकार ने राजस्व मंडल में पदस्थी के दौरान इनके कारनामे सामने आने के बाद छह माह से अधिक समय से इन्हें मंत्रालय में ओएसडी बना रखा था। साथ ही एक कमेटी का गठन कर इनके विरुद्ध अनिवार्य सेवानिवृत्ति का प्रस्ताव केंद्र को भेजा था जिस पर डीओपीटी ने सहमति जताते हुए दो दिन पहले आदेश जारी कर दिए। इसे कल तामील कराया गया।
जांजगीर से शुरू किया था सफर
आईएएस सिंह ने अपनी नौकरी की शुरुआत सहायक कलेक्टर के तौर पर जांजगीर (बिलासपुर) से 2 जून 88 से शुरू की थी। इसके बाद वे रीवा में अपर कलेक्टर, भोपाल में नगरीय विकास में अपर संचालक रहे और 1993 में पन्ना में पहली कलेक्टरी की। बाद में उन्हें अपर आयुक्त आबकारी ग्वालियर, आजाक विभाग, संचालक व कमिश्नर अजा विभाग बनाया गया। अप्रेल 2004 में वे राजस्व मंडल के सदस्य बने और यहीं से सरकारी जमीन के रिकार्ड निजी लोगों के नाम पर करने की शुरुआत हुई। इसके बाद कुछ सालों तक वे दूसरे पदों पर रहे जिसमें राज्य शिक्षा केंद्र की पदस्थपान भी शामिल है। यहां तीन करोड़ की खरीदी आठ करोड़ में करने का आरोप उन पर है। वर्ष 2010 से फिर राजस्व मंडल में पदस्थ किए गए। यहीं से जमीन घोटाले वाले फैसले होते रहे।

Related News
64x64

भोपाल। राजधानी भोपाल के टीलाजमालपुरा इलाके में बीते 19 नवम्बर को अपनी पूर्व पत्नी पर केरोसिन डालकर आग लगाने वाले फरारी आरोपी को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। यह…

64x64

भोपाल। अंतरराष्ट्रीय वन मेले में इस बार स्थानीय वन समितियां विंध्य हर्बल के नाम से दवाइयां और औषधियां नहीं बेच पाएंगी। यह ट्रेडमार्क राज्य वनोपज संघ का है। संघ की…

64x64

भोपाल। राजधानी भोपाल की निशातपुरा पुलिस ने एक शातिर वाहन चोर को पकड़ने में सफलता हासिल की है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से तीन चुराए गए दो पहिया वाहन…

64x64

भोपाल। राजधानी के गोविंदपुरा इलाके से नकली कुरकुरे व चिली चाउमीन बनाने वाली फैक्ट्री पकड़ी गई है। यहां पर जेबी वेफर्स के नाम से यह चीजें बनाई जा रही थीं,…

64x64

भोपाल। भोपाल से अगवा कर राजगढ़ में बेची गई युवती की याददाश्त में सहेली का मोबाइल नंबर उसकी मुक्ति के लिए अहम साबित हुआ। राजगढ़ के मलावर में बंधक बने…

64x64

भोपाल। परीक्षा या घरेलू तनाव की स्थिति में स्कूली बच्चे डायल-100 से मदद मांग सकेंगे। परिवार परामर्श केंद्र के काउंसलर ऐसे बच्चों की काउंसलिंग करेंगे और उन्हें आत्महत्या जैसे कदम…

64x64

भोपाल। हमीदिया अस्पताल में न्यूक्लियर मेडिसिन विभाग में चार करोड़ रुपए से लगे गामा कैमरों को चूहे चलने नहीं दे रहे हैं। चूहों ने साल में तीन बार इसकी केबल…

64x64

नामांत्रण के लिये मांगे गये दस हजार रूपये, ग्रह मंत्री बोले मामले की जांच करायेगें जांच में पाया गया सही तो शिकायतकर्ता को करेगें पुरूस्‍कत।

मुंगावली- बुधवार को ग्रह…