By: Sabkikhabar
12-08-2017 07:11

नई दिल्ली । शांति के नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से हुई 48 मौतों की तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि यह त्रासदी नहीं बल्कि यह स्पष्ट रुप से एक नरसंहार है। सत्यार्थी ने ट्विटर के जरिए ये बातें कहीं। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार से पूछा, हमारे बच्चों के लिए 70 साल के आजादी के क्या यही मायने हैं? सीएम योगी से अपील करते हुए उन्होंने कहा, दशकों से चले आ रहे भ्रष्ट चिकित्सा व्यवस्था को सुधारने के लिए आपके एक सही निर्णय की जरुरत  है।

इसी बीच सीएम योगी ने इस मामले की पूरी तरह से जांच के आदेश दे दिए हैं घटना के पीछे जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आदेश भी दिया है। मीडिया से बात करते हुए आज योगी और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, मुख्यमंत्री ने हाल ही में अस्पताल का दौरा किया था लेकिन उन्हें किसी प्रकार की समस्या के बारे में सूचित नही किया गया। राज्य चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने भी कहा कि मामले की जांच के बाद दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने भी इस दिशा में अहम निर्देश दिए हैं। हम जल्द ही गोरखपुर जायेंगे और मामले का गहन विश्लेषण कर आगे का निर्णय लेंगे।

बताया जाता है कि, ऑक्सीजन की कमी से एंसेफ्लाइटिस की बीमारी होती है जिससे दिमाग पर इसका असर पड़ता है और बच्चे की मौत हो जाती है। बच्चों के परिवारों ने कहा है कि अस्पताल प्रबंधन सही तरीके से उनके इलाज के लिए गंभीरता नहीं दिखा रहा है। स्थानीय लोगों के अनुसार, अस्पताल को मुफ्त में दवाइयों का वितरण करना चाहिए लेकिन यहां न तो पूरी तरह से मेडिकल सुविधाएं हैं और ना ही मरीजों को मुफ्त में दवाएं दी जाती हैं।

गोरखपुर के डीएम राजीव रौतेला ने कहा कि शुक्रवार को ये सूचना मिली थी कि अस्पताल में 48 घंटे के अंदर लगभग 30 बच्चों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई थी। इसके साथ ही उन्होंने ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता से ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं रोकने का आग्रह किया। रिपोर्ट के बाद, उत्तर प्रदेश सरकार मेडिकल कॉलेज के पक्ष दिखाई दे रही है। सरकार का कहना है कि ऑक्सीजन की कमी इस मौत का कारण नहीं है। राज्य चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने कहा कि केवल 7 बच्चों की मौत आज हुई है। दो की मौत एईएस के कारण जबकि दो की मौत नॉन एईएस के कारण हुई है। 

जिला मजिस्ट्रेट ने कहा है कि अस्पताल में ऑक्सीजन सिलिंडर की पूरी व्यवस्था की गई थी लेकिन फिर हुई इस घटना के बाद जिम्मेदार लोगों की खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। आंकड़ों के अनुसार, बीआरडी अस्पताल में पिछले पांच दिनों में 7 अगस्त से 11 अगस्त तक कुल 60 लागों की मौत हो चुकी है।
 

Related News
64x64

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सांसद जया बच्चन जल्द ही तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम सकती हैं। जया बच्चन का तीसरा राज्यसभा कार्यकाल अप्रैल में खत्म होने जा रहा…

64x64

हैदराबादः आज से हैदराबाद में सूचना प्रौद्योगिकी पर विश्व कांग्रेस (डब्ल्यूसीआईटी) के 22वें संस्करण का आगाज हुआ, पीएम मोदी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इसके उद्घाटन किया। डब्ल्यूसीआईटी सोमवार से…

64x64

रायपुर । छत्‍तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षा बलों के साथ हुए मुठभेड़ में 20 से अधिक नक्‍सली मारे गए। इस बात की जानकारी नक्‍सल विरोधी अ‍भियान के विशेष महानिदेशक…

64x64

दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ रही नॉर्थ ईस्ट की स्टूडेंट को जान बचाने के लिए हमलावरों के सामने ‘हे... आई एम गर्ल’ कहना पड़ा। शुक्रवार देर रात मुखर्जी नगर इलाके में…

64x64

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल रात यहां पहुंचे जहां वह विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे तथा जैन तीर्थ केंद्र श्रवण बेलगोला भी जाएंगे। 
मंदाकाली हवाई अड्डे पर उनका स्वागत राज्यपाल…

64x64

पटना । रेलवे भर्ती बोर्ड ने दसवीं कक्षा के साथ आइटीआइ पास अभ्यर्थियों के लिए बंपर वैकेंसी निकाली थी, जिसमें ग्रुप डी के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम उम्रसीमा 28 साल…

64x64

नई दिल्‍ली । कावेरी नदी के पानी के बंटवारे संबंधी सुप्रीम कोर्ट के आदेश ने कर्नाटक में कांग्रेस और मुख्यमंत्री सिद्धरमैया की पौ बारह कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने…

64x64

यूपी में हो रहे ताबड़तोड़ एनकाउंटर्स से सहमे अपराधियों का सरेंडर करने का सिलसिला शुरू हो गया है। योगी सरकार ने जिला पुलिस अध्यक्षों को अपराधियों को मार गिराने के…