By: Sabkikhabar
10-08-2017 08:04

भोपाल। सड़क, पुल-पुलिया, भवन सहित अन्य निर्माण के काम करने वाले ठेकेदारों पर प्रदेश में जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) का बोझ नहीं पड़ेगा। भुगतान के समय बिलों पर जो जीएसटी लगेगा, उसका अलग से भुगतान सरकार ठेकेदारों को करेगी। ये व्यवस्था सिर्फ राज्य के खजाने से होने वाले कामों पर लागू होगी। लोक निर्माण विभाग ने नए टेंडर के वित्तीय प्रस्ताव जीएसटी की राशि को छोड़कर बुलाने के लिए आदेश अधिकारियों को दिए हैं।

सूत्रों के मुताबिक प्रदेश में सरकार के लिए निर्माण कार्य करने वाले ठेकेदारों ने एक जुलाई से लागू हुए जीएसटी से लागत बढ़ने का हवाला देकर काम करने में दिक्कत आने की बात उठाई थी। प्रशासन अकादमी में हुई इस बैठक में मौजूद अधिकारियों ने सरकार से राहत दिलाने का रास्ता खोजने का भरोसा दिलाया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रमुख सचिवों की समिति बनाई गई थी।

समिति की सिफारिश पर लोक निर्माण विभाग ने तय किया है कि अब जो भी निविदा बुलाई जाएगी, उसके वित्तीय प्रस्ताव में जीएसटी की राशि अलग रखी जाएगी। जब ठेकेदार भुगतान के लिए बिल लगाएगा तो जीएसटी के हिसाब से उसे टैक्स की राशि अलग से दी जाएगी। इसके लिए ठेकेदार को जीएसटी में पंजीयन और नंबर लेना जरूरी होगा।

ठेकेदारों पर आ रहा है 12 प्रतिशत अतिरिक्त भार

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि निर्माण से जुड़े ठेकेदारों पर 12 प्रतिशत जीएसटी का अतिरिक्त भार आ रहा है। इससे लागत बढ़ेगी और असर ठेकेदारों पर पड़ेगा। इसे देखते हुए तय किया गया है कि 12 प्रतिशत जीएसटी का भार सरकार उठाएगी। इससे ठेकेदार टेंडर में रेट दर्ज करेगा। विभाग ने साफ किया है कि जीएसटी के अलावा बाकी करों का भुगतान ठेकेदार को ही करना होगा।

Related News
64x64

डांसिंग स्टार जीजा के साले को पैर में गोली मारी, चोर को पकड़ने के प्रयास में चोर ने मेरी गोली, जनक गंज थाने की उदासी की बगिया की घटना नकाबपोश…

64x64

गुना जिले के कुंभराज थाना क्षेत्र के गांव की नाबालिक के साथ बलात्कार की घटना को अंजाम देकर आरोपी लड़की को म्रतक समझ कर फरार हो गया पुलिस मामले की जांच में…

64x64

पीसीसी चीफ कमलनाथ मिले राहुल गांधी से चुनावी रणनीति को लेकर हुई चर्चा ..... 

संगठन गठबंधन और टिकट वितरण को लेकर भी हुई बात

64x64

डिंडोरी। नर्वदा नदी में अमरकंटक में हो रही बारिश के चलते अचानक जलस्तर बड़गया जिससे निचले इलाकों में कई मवेसी बह गए

64x64

गुस्ताखी माफ हो

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के सपनों का पैरिस 

मध्यप्रदेश के विदिशा में भी देखिये पैरिस जहाँ केंद्रीय विद्यालय का हाल जो वाटर पार्क में तब्दील हो गया है जहाँ बच्चों को…

64x64

दैनिक भास्कर के समूह संपादक कल्पेश याग्निक का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. दफ्तर में काम करने के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ने पर तत्काल बॉम्बे…

64x64

बहुजनसमाजपार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन लगभग तय 

 दोनों दलों के नेताओं ने साथ चुनाव लडऩे का मन बना लिया है। 

प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी के वर्तमान में 4…

64x64

101 अपर कलेक्टर, संयुक्त कलेक्टर और डिप्टी कलेक्टर एकतरफा रिलीव। 16 जुलाई तक करना होगा नई पोस्टिंग स्थल पर ज्वाइन।