By: Sabkikhabar
17-06-2017 07:35
नई दिल्ली। सरकार के चार साल में डिजिटल अर्थव्यवस्था को एक हजार अरब डॉलर के आंकड़े तक पहुंचाने के लक्ष्य के बीच तकनीकी कंपनियों ने आज कहा कि इस अवधि में देश के पास डिजिटल अर्थव्यवस्था को चार हजार अरब डॉलर के आंकड़े तक पहुंचाने की संभावना है। केंद्रीय कानून एवं आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने यह बात यहां डिजिटल अर्थवस्था से जुड़े उद्योग जगत की शीर्ष कंपनियों के प्रमुखों से बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कही। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में प्रसाद ने कहा कि सरकार नयी इलैक्टॉनिक नीति, सॉफ्टवेयर नीति समेत कई नयी रणनीतियों को आगे बढ़ाएगी जो इस क्षेत्र को समर्थन प्रदान करेंगी। साथ ही डेटा की सुरक्षा के लिए भी एक ढांचा तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बात सभी भागीदारों ने कहा कि एक हजार अरब डॉलर का आंकड़ा कम करके आंका गया है। भारत में दो से चार हजार अरब डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनने की क्षमता है। डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने पर आयोजित इस बैठक में नास्कॉम के अध्यक्ष आर चंद्रेखर, गूगल इंडिया के राजन आनंदन, विप्रो के रशीद प्रेमजी, इंडियन सेल्युलर एसोसिएन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज मोहिंद्रू, इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सुभोश राय और हाइक मेसेंजर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी केविन भारती मित्तल आदि शामिल रहे। उल्लेखनीय है कि सरकार ने 2022 तक दे को एक हजार अरब डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य तय किया है। अभी देश में 450 अरब डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था है। सुबह में बैठक के दौरान प्रसाद ने कंपनियों से सस्ती प्रौद्योगिकी और समावेशी माहौल तैयार कर चार सालों में भारत को एक हजार अरब डॉलर की डिजिटल अर्थव्यवस्था बनाने में सरकार की मदद करने का आह्वान किया था।
Related News
64x64

मुंबई में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की 40वीं एनुएल जनरल मीटिंग शुक्रवार को हुई. मुकेश अंबानी ने इस दौरान कंपनी के 40 साल के सफर को बताया. रिलायंस की इस बैठक…

64x64

नई दिल्ली: कैग रिपोर्ट में शुक्रवार को एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है. CAG की यह रिपोर्ट रेलवे से जुड़ी हुई है. देश के अधिकांश लोग रेल से सफर करते हैं. रेलवे…

64x64

 

मुंबई... मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने टीवी कॉन्टेंट प्रॉडक्शन कंपनी बालाजी टेलिफिल्म्स में करीब 25 प्रतिशत हिस्सेदारी 413.28 करोड़ में खरीदने की सहमति दी है। गुरुवार को शेयर बाजार…

64x64

नई दिल्लीः अच्छी बढ़त के साथ शुरुआत करने के बाद घरेलू बाजारों में सुस्ती छा गई है। सैंसेक्स और निफ्टी की चाल सुस्त नजर आ रही है। शुरुआत में सैंसेक्स 32…

64x64

भोपाल। एक हजार और 500 के बड़े नोट बंद करने के बाद लाए गए 2000 रुपए के नोट भी अब बाजार में कम दिख रहे हैं। बैंकों में ये नोट वापस…

64x64

नई दिल्ली: वस्तु एवं सेवाकर बिल यानी जीएसटीको लागू करने के पीछे सरकार की ओर से दावा किया गया है कि इससे 'अच्छे दिन' आ जाएंगे. जीएसटी लागू होने के 15 दिन…

64x64

नई दिल्ली.. अगले पांच सालों में यानी 2022 तक सबको घर दिलाने के प्रॉजेक्ट प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की धीमी चाल से नाराज पीएम मोदी ने प्रॉजेक्ट पूरा करने के लिए…

64x64

 

मुंबई.. हाल के हफ्तों में 2000 रुपये के नोटों की बहुत अधिक तंगी ने बैंकरों और एटीएम ऑपरेटरों को मुश्किल में डाल दिया है, जो पहले ही देश के कई…